नए साल से बदल जाएंगे चेक के नियम जानें क्या है नये बदलाव, Positive Pay

1 जनवरी से देश में कई सारे नियमों में बदलाव होने वाले हैं, उन्हीं बदलावों में से एक बदलाव होगा चेक पेमेंट संबंधित मामले में. 1 जनवरी 2021 से चेक पेमेंट के नियम बदल जाएंगे। इसके तहत 50,000 रुपये से अधिक भुगतान वाले चेक के लिए पॉजिटिव पे मैकेनिज्म लागू किया जाएगा. इसे लागू करने का अहम मकसद बैंकिंग धोखाधड़ी से लोगों को बचाना है।

बता दें कि पॉजिटिव पे मैकेनिज्म में अगर x व्यक्ति ने y व्यक्ति के लिए अगर चेक जारी किया है तो उसी चेक की जानकारी उसे संबंधित बैंक को देने होती है. इसकी तस्वीर, डिटेल्स इत्यादि के माध्यम से आप बैंक को जानकारी दे सकते हैं। यह जानकारी SMS, इंटरनेट बैंकिंग, मोबाइल बैंकिंग के माध्यम से दी जा सकती है।

नए साल से होने वाले बदलाव
1- पॉजिटिव पे मैकेनिज्म के तहत भुगतान के रूप में दिए गए चेक की पुन: जांच की जाएगी।

2- पॉजिटिव पे के नियम 50,000 रुपये से अधिक भुगतान वाले सभी खाताधारकों के लिए लागू होंगे. हालांकि खाताधारक इस सुविधा का निर्णय लेगा. अगर 5 लाख से अधिक की रकम की भुगतान की जानी है तो बैंक द्वारा पॉजिटिव पे को अनिवार्य कर दिया जाएगा।

3- चेक जारी करने वाले व्यक्ति को बैंक को इंटरनेट बैंकिंग, एसएमएस, मोबाइल बैंकिंग या एटीएम के माध्यम से अपने द्वारा जारी किए गए चेक की डिटेल देनी होगी जिसकी दोबारा जांच कर चेक के भुगतान से पहले बैंक पुष्टि कर पाए।

4- नेशनल पेमेंट कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया (NPCI) पॉजिटिव पे सिस्टम को विकसित कर इसे सहभागी बैंकों को उपलब्ध कराएगा।

5- सीटीएस ग्रिड विवाद समाधान तंत्र के तहत केवल वे चेक स्वीकार किए जाएंगे, जो नए नियम के तहत आएंगे. सभी बैंकों को चेक क्लियर या संग्रह में नए नियम को लागू करना होगा। demo-pic