22.5 C
Indore
Wednesday, September 29, 2021

केंद्र किसान नेताओं से अभी कोई बातचीत निर्धारित नहीं : नरेंद्र सिंह तोमर 

नई दिल्‍ली :  कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने बुधवार को कहा कि केंद्र किसानों के साथ कोई अनौपचारिक बात नहीं कर रहा है। उन्‍होंने आंदोलन स्थल पर और अधिक बैरिकेड्स लगाने और इंटरनेट को निलंबित करने को स्थानीय प्रशासन से संबंधित कानून व्यवस्था का मुद्दा बताया। 22 जनवरी को आयोजित सरकार और 41 प्रदर्शनकारी यूनियनों के बीच अंतिम और 11 वें दौर की बैठक बेनतीजा रही।

केंद्र सरकार ने किसान यूनियनों से 18 महीने के लिए नए कृषि कानूनों को निलंबित करने के सरकार के प्रस्ताव पर पुनर्विचार करने के लिए कहा था। यह पूछे जाने पर कि सरकार किसान नेताओं से अगले दौर की वार्ता कब आयोजित करेगी और अनौपचारिक रूप से किसान यूनियनों से कब बात होगी, तो तोमर ने नकारात्मक में जवाब दिया।

हिरासत को लेकर पुलिस कमिश्‍नर से बात करें किसान नेता : तोमर ने बताया कि जब औपचारिक बातचीत होगी, तब हम सूचित करेंगे। किसान नेता सरकार से तब तक बात नहीं करेंगे, जब तक पुलिस और प्रशासन उन्हें परेशान नहीं करेगा और हिरासत में लिए गए किसानों को रिहा नहीं करता, इस बारे में कृषि मंत्री ने कहा कि किसान नेताओं को दिल्‍ली पुलिस कमिश्‍नर से बात करनी चाहिए। मैं कानून और व्यवस्था के मुद्दे पर कोई टिप्पणी नहीं करना चाहता। यह मेरा काम नहीं है।

ज्ञात हो कि सर्वदलीय बैठक में पीएम मोदी ने यह भी कहा था कि हम आम सहमति तक नहीं पहुंचे हैं, लेकिन हम आपको (किसानों को) प्रस्ताव दे रहे हैं। वह किसी भी वक्त उनके लिए फोन पर भी मौजूद रहेंगे। बातचीत फिर से शुरू करने के लिए किसान नेताओं को कृषि मंत्री को बस एक फोन करना है। किसान संगठनों के लिए वह प्रस्ताव अभी भी हाजिर है, जिसके तहत यह कहा गया था कि सरकार डेढ़ साल के लिए कृषि कानूनों पर अमल रोकने को तैयार है। पीएम मोदी ने पिछले रविवार को ‘मन की बात’ में दिल्ली में 26 जनवरी को ट्रैक्टर रैली के दौरान हुई हिंसा और लाल किले की घटना पर दुख जताया। उन्होंने कहा कि तिरंगे के अपमान से उनका मन दुखी हुआ है।

संयुक्‍त किसान मोर्चा ने जारी किया बयान : 22 जनवरी की वार्ता के बाद से किसान नेताओं और केंद्र के बीच कृषि कानूनों पर चर्चा के लिए कोई बैठक नहीं हुई है। हालांकि सरकार ने दोहराया कि किसानों से बातचीत के लिए दरवाजे खुले हैं और वे सरकार के प्रस्‍ताव पर विचार करें। कृषि कानून को रद करने को लेकर प्रदर्शन कर रहे संयुक्‍त किसान मोर्चा ने बयान जारी कर कहा कि पुलिस और प्रशासन द्वारा किसानों के आंदोलन के खिलाफ विभिन्न उत्पीड़न होने तक सरकार के साथ कोई औपचारिक बातचीत नहीं की जा सकती है।

Related Articles

पंजाब कांग्रेस: सिद्धू ने प्रदेश अध्यक्ष पद से दिया इस्तीफा, लिखा- पंजाब के भविष्य से समझौता नहीं करूंगा

चंडीगढ़ : पंजाब कांग्रेस के घमासान के बीच मंगलवार को पार्टी प्रधान नवजोत सिद्धू ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। कुछ दिन...

MP: भ्रष्टाचार पर बसपा विधायक ने दिया ग्रामीणों को ज्ञान, ‘आटे में नमक बराबर रिश्वत तो चलती है’

भोपाल : देश में भ्रष्टाचार के खिलाफ जहां लोग मुहिम चला रहे हैं वहीं कुछ ऐसे नेता हैं जो खुलेआम इसे बढ़ावा दे रहे हैं।...

दक्षिण कोरिया में कुत्‍ते का मांस खाने पर लगेगा बैन, राष्‍ट्रपति बोले, ‘बंद करो परंपरा’

सियोल: दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति मून जे-इन देश में कुत्ते के मांस पर प्रतिबंध लगाने का प्लान बना रहे हैं। मून जे-इन खुद कुत्तों...

सर्वे में खुलासा: तार-तार हुई मानवता, कोविड की दूसरी लहर के दौरान आम आदमी से जमकर हुई ‘लूट-खसोट’, 

नई दिल्लीः कोविड की दूसरी लहर में दवा दुकानदारों से लेकर एंबुलेंस संचालकों और प्राइवेट लैब वालों से लेकर मेडिकल उपकरण बेचने वालों तक...

उपचुनाव का एलान: 3 लोकसभा, 30 विधानसभा सीटों पर 30 अक्टूबर को मतदान, 2 नवंबर को मतगणना

नई दिल्लीः देश के अंदर तीन संसदीय व 30 विधानसभा क्षेत्रों में होने वाले उपचुनाव के लिए चुनाव आयोग ने अपना कार्यक्रम जारी कर...

गोवा के पूर्व सीएम ने ममता बनर्जी का जमकर किया गुणगान, बोले- सिर्फ ममता ही भाजपा को दे सकती हैं चुनौती

पणजी : कांग्रेस छोड़ने के एलान के साथ ही गोवा के पूर्व मुख्यमंत्री लुजिन्हो फलेरियो ने ममता बनर्जी का जमकर गुणगान किया। फलेरियो ने...

पांच हजार रुपये की रिश्वत लेते रंगे हाथ पकड़ाया पटवारी

खंडवा : मध्यप्रदेश में अफसर से लेकर पटवारी तक रिश्वत लेने के मामले में रोज इज़ाफ़ा हो रहा हैं। तजा मामला खंडवा जिले की...

Tripura: त्रिपुरा के सीएम ने न्यायपालिका को दे डाली चुनौती, अधिकारियों से बोले- कोर्ट की अवमानना से न डरें 

अगरतला: त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब एक बार फिर से विवादों में घिर गए हैं। इस बार उन्होंने न्यायपालिका को ही चुनौती दे...

रिटायरमेंट: मोईन अली ने टेस्ट क्रिकेट से लिया संन्यास, कहा- टीम के साथियों की कमी खलेगी

इंग्लैंड के ऑल राउंडर मोईन अली ने टेस्ट से संन्यास की घोषणा कर दी है। उन्होंने एक बयान में कहा मैं अपनी टीम के...

Stay Connected

5,577FansLike
13,774,980FollowersFollow
122,000SubscribersSubscribe
- Advertisement -

Latest Articles

पंजाब कांग्रेस: सिद्धू ने प्रदेश अध्यक्ष पद से दिया इस्तीफा, लिखा- पंजाब के भविष्य से समझौता नहीं करूंगा

चंडीगढ़ : पंजाब कांग्रेस के घमासान के बीच मंगलवार को पार्टी प्रधान नवजोत सिद्धू ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। कुछ दिन...

MP: भ्रष्टाचार पर बसपा विधायक ने दिया ग्रामीणों को ज्ञान, ‘आटे में नमक बराबर रिश्वत तो चलती है’

भोपाल : देश में भ्रष्टाचार के खिलाफ जहां लोग मुहिम चला रहे हैं वहीं कुछ ऐसे नेता हैं जो खुलेआम इसे बढ़ावा दे रहे हैं।...

दक्षिण कोरिया में कुत्‍ते का मांस खाने पर लगेगा बैन, राष्‍ट्रपति बोले, ‘बंद करो परंपरा’

सियोल: दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति मून जे-इन देश में कुत्ते के मांस पर प्रतिबंध लगाने का प्लान बना रहे हैं। मून जे-इन खुद कुत्तों...

सर्वे में खुलासा: तार-तार हुई मानवता, कोविड की दूसरी लहर के दौरान आम आदमी से जमकर हुई ‘लूट-खसोट’, 

नई दिल्लीः कोविड की दूसरी लहर में दवा दुकानदारों से लेकर एंबुलेंस संचालकों और प्राइवेट लैब वालों से लेकर मेडिकल उपकरण बेचने वालों तक...

उपचुनाव का एलान: 3 लोकसभा, 30 विधानसभा सीटों पर 30 अक्टूबर को मतदान, 2 नवंबर को मतगणना

नई दिल्लीः देश के अंदर तीन संसदीय व 30 विधानसभा क्षेत्रों में होने वाले उपचुनाव के लिए चुनाव आयोग ने अपना कार्यक्रम जारी कर...