14.1 C
Indore
Sunday, November 27, 2022

अयोध्या सुप्रीम कोर्ट का फैसला, जाने बड़ी बाते


वर्षों से लंबित राजनीतिक रूप से संवेदनशील राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद विवाद पर सुप्रीम कोर्ट के पांच जजों की पीठ ने फैसला पढ़ना शुरू कर दिया है। इस भूमि विवाद में चीफ जस्टिस रंजन गोगोई फैसला पढ़ रहे हैं। पूरा फैसला आने में करीब आधे घंटे का वक्त लगेगा। आखिर में साफ होगा कि पीठ का अंतिम निर्णय क्या है। इससे पहले यह जान लीजिए कि सुप्रीम कोर्ट की संविधान पीठ आज जो फैसला दे रही है, वह 2.77 एकड़ जमीन से जुड़ा है। सुप्रीम कोर्ट जमीन के इस हिस्से का मालिकाना हक तय करेगा। आइए जानते हैं कि सुप्रीम कोर्ट के जज क्या फैसला दे रहे हैं…

ASI के सबूतों की अनदेखी नहीं: SC
सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि ASI की खुदाई से निकले सबूतों की अनदेखी नहीं कर सकते हैं। कोर्ट ने कहा कि हाई कोर्ट का फैसला पूरी पारदर्शिता से हुआ है। कोर्ट ने कहा है कि बाबरी मस्जिद खाली जमीन पर नहीं बनी थी। कोर्ट ने कहा कि मस्जिद के नीचे विशाल रचना थी। एएसआई ने 12वीं सदी का मंदिर बताया था। कोर्ट ने कहा कि कलाकृतियां जो मिली थीं, वह इस्लामिक नहीं थीं। विवादित ढांचे में पुरानी संरचना की चीजें इस्तेमाल की गईं। मुस्लिम पक्ष लगातार कह रहा था कि ASI की रिपोर्ट पर भरोसा नहीं करना चाहिए।

‘अयोध्या में राम के जन्मस्थान के दावे का विरोध नहीं’
कोर्ट ने कहा है कि ASI नहीं बता पाया कि मस्जिद तोड़कर मंदिर बनी थी। अयोध्या में राम के जन्मस्थान के दावे का किसी ने विरोध नहीं किया। विवादित जगह पर हिंदू पूजा करते रहे थे। गवाहों के क्रॉस एग्जामिनेशन से हिंदू दावा गलत साबित नहीं। हिंदू मुख्य गुंबद को ही राम जन्म का सही स्थान मनाते हैं।

‘मस्जिद कब बनी, इससे फर्क नहीं’
शिया बनाम सुन्नी केस में एक मत से फैसला आया है। शिया वक्फ बोर्ड की अपील खारिज कर दी गई है। उन्होंने कहा कि मस्जिद कब बनी, इससे फर्क नहीं पड़ता। 22-23 दिसंबर 1949 को मूर्ति रखी गई। एक व्यक्ति की आस्था दूसरे का अधिकार न छीने। नमाज पढ़ने की जगह को हम मस्जिद मानने से मना नहीं कर सकते। जज ने कहा कि जगह सरकारी जमीन है।

हिंदू पक्ष निर्मोही अखाड़े का दावा खारिज हो गई है। हाई कोर्ट ने इस पक्ष को एक तिहाई हिस्सा दिया था। रामलला को कोर्ट ने मुख्य पक्षकार माना है। निर्मोही अखाड़ा सेवादार भी नहीं है। SC ने रामलला को कानूनी मान्यता दे दी है।
इससे पहले चीफ जस्टिस रंजन गोगोई समेत सभी पांचों जजों के सुप्रीम कोर्ट पहुंचने से पहले ही उनके घरों की सुरक्षा बढ़ा दी गई थी। कोर्ट परिसर में भी सुरक्षा काफी कड़ी है। सुबह के 10 बजते-बजते कोर्ट रूम नंबर 1 में वकीलों की खचाखच भीड़ हो गई थी।

Related Articles

NZ vs IND: लॉर्ड ठाकुर का गुरूर चूर-चूर, इस ओवर से पलटा मैच, वरना भारत की मुट्ठी में था मुकाबला

Shardul Thakur 25 runs over: न्यूजीलैंड ने पहले वनडे में भारत को 17 गेंद पहले ही रौंद दिया। न्यूजीलैंड ने टॉम लाथम (145*) और...

बटलर और कमिंस का नाम लेकर रोहित को खूब धोया, विराट को भी नहीं छोड़ा, आकाश चोपड़ा की खरी-खरी

बटलर और कमिंस का नाम लेकर रोहित को खूब धोया, विराट को भी नहीं छोड़ा, आकाश चोपड़ा की खरी-खरी रोहित शर्मा के नियमित कप्तान बनने...

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने पर्यावरण प्रेमी संस्था के सदस्यों के साथ लगाए पौधे

पूर्व महापौर श्री आलोक शर्मा ने अपने जन्म-दिन पर किया पौध-रोपण मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने स्मार्ट सिटी पार्क में अशोक, शहतूत, केसिया और...

मध्यप्रदेश में भी लगाएंगे बहुआयामी कृषि प्रदर्शनी, लागू करेंगे नवाचार – मुख्यमंत्री श्री चौहान

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने नागपुर में किया एग्रो विजन का शुभारंभ म.प्र. में मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कृषि क्षेत्र के विकास में दिया विशेष ध्यान...

पेसा अधिनियम जनजातीय भाई-बहनों की जिन्दगी बदलने की सामाजिक क्रांति : मुख्यमंत्री श्री चौहान

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि पेसा अधिनियम जनजातीय भाई-बहनों की जिन्दगी बदलने की सामाजिक क्रान्ति है। जनता की शक्तियाँ जनता...

 सेवानिवृत्त कर्मचारियों को समय पर हो पेंशन सह अन्य देयकों का भुगतान: राज्यपाल सुश्री उइके

केंद्र द्वारा अनुसूचित क्षेत्रों के लिए विभिन्न विभागों को आबंटित विशेष फंड का हो शत प्रतिशत उपयोग प्रधान महालेखाकार छत्तीसगढ़ द्वारा आयोजित ऑडिट सप्ताह-2022...

पेसा एक्ट लागू करने हो गई है ग्राम सभा की शुरूआत : मुख्यमंत्री श्री चौहान

आज मैं भाषण देने नहीं आपको पेसा एक्ट पढ़ाने आया हूँ आँगनवाड़ी, स्कूल और अस्पताल के संचालन पर निगाह रखेंगी ग्राम सभाएँ गाँव की चौपाल से...

 बजट पूर्व बैठक में शामिल होने छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल दिल्ली के मानेक शॉ सेन्टर पहुंचे

जहाँ बजट 2023 को लेकर वित्त मंत्री से अहम मुद्दों पर चर्चा होगी। बजट पूर्व बैठक में छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने केंद्रीय...

लोक धन के अपव्यय को रोकने और वित्तीय लेन-देन की पारदर्शिता में लेखा परीक्षा की भूमिका महत्वपूर्ण : राज्यपाल श्री पटेल

लेखा परीक्षा सप्ताह समापन समारोह को राज्यपाल श्री पटेल ने किया संबोधित राज्यपाल श्री मंगुभाई पटेल ने कहा है कि लोक धन के अपव्यय को...

Stay Connected

5,577FansLike
13,774,980FollowersFollow
130,000SubscribersSubscribe
- Advertisement -

Latest Articles

NZ vs IND: लॉर्ड ठाकुर का गुरूर चूर-चूर, इस ओवर से पलटा मैच, वरना भारत की मुट्ठी में था मुकाबला

Shardul Thakur 25 runs over: न्यूजीलैंड ने पहले वनडे में भारत को 17 गेंद पहले ही रौंद दिया। न्यूजीलैंड ने टॉम लाथम (145*) और...

बटलर और कमिंस का नाम लेकर रोहित को खूब धोया, विराट को भी नहीं छोड़ा, आकाश चोपड़ा की खरी-खरी

बटलर और कमिंस का नाम लेकर रोहित को खूब धोया, विराट को भी नहीं छोड़ा, आकाश चोपड़ा की खरी-खरी रोहित शर्मा के नियमित कप्तान बनने...

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने पर्यावरण प्रेमी संस्था के सदस्यों के साथ लगाए पौधे

पूर्व महापौर श्री आलोक शर्मा ने अपने जन्म-दिन पर किया पौध-रोपण मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने स्मार्ट सिटी पार्क में अशोक, शहतूत, केसिया और...

मध्यप्रदेश में भी लगाएंगे बहुआयामी कृषि प्रदर्शनी, लागू करेंगे नवाचार – मुख्यमंत्री श्री चौहान

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने नागपुर में किया एग्रो विजन का शुभारंभ म.प्र. में मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कृषि क्षेत्र के विकास में दिया विशेष ध्यान...

पेसा अधिनियम जनजातीय भाई-बहनों की जिन्दगी बदलने की सामाजिक क्रांति : मुख्यमंत्री श्री चौहान

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि पेसा अधिनियम जनजातीय भाई-बहनों की जिन्दगी बदलने की सामाजिक क्रान्ति है। जनता की शक्तियाँ जनता...