29.1 C
Indore
Sunday, October 17, 2021

खूबसूरती के लिए महिलाएं पार्लर पर निर्भर, डायना नहीं थीं ताज के काबिल – सीएम बिप्‍लब

त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब ने अब महिलाओं की सौंदर्य प्रतियोगिता पर अपना ताजा बयान दिया है।

बिप्लब देब का मानना है कि खूबसूरती के लिए महिलाएं ब्यूटी पार्लर पर निर्भर करती है और 1997 में मिस इंडिया वर्ल्ड बनीं डायना हेडन ताज के काबिल नहीं थीं।

द नॉर्थ ईस्ट टुडे की खबर के मुताबिक विवादित बयान देकर सुर्खियां बटोरने वाले बिप्लब देब ने अंतरराष्ट्रीय सौंदर्य प्रतियोगिताओं और उनके पीछे होने वाले व्यापार पर अपने विचार रखे हैं।

बिप्लब देब ने कहा कि पहले भारतीय महिलाएं डेंड्रफ (रूसी) से निजात पाने के लिए शैंपू लगाने के बजाय बालों को धोने के लिए स्थानीय पत्तियों का इस्तेमाल करती थीं। बिप्लब देब ने आगे कहा कि भारतीय महिलाएं जब अंतरराष्ट्रीय सौंदर्य प्रतियोगिताएं जीतने लगीं तो सौंदर्य उत्पाद बनाने वाली कंपनियों को भारत के बाजारों में अपने उत्पाद घुसाने का मौका मिल गया।

स्थानीय मीडिया के मुताबिक अमूमन टूटी-फूटी हिंदी बोलने वाले बिप्लब देब ने कहा कि सभी अंतरराष्ट्रीय फैशन और डिजाइन प्रतियोगिताओं के पेरिस आधारित आयोजनकर्ता ‘अंतरराष्ट्रीय मार्केटिंग माफिया’ है।

बिप्लब देब ने कहा- ”वे लड़कियों को भर्ती करते हैं और फिर फैब्रिक के साथ रैंप पर चलवाते हैं। जो लोग सर्टिफिकेट बांटते हैं वे सभी अंतरराष्ट्रीय टेक्सटाइल मार्केट माफिया हैं। वे पहले से तय कर लेते हैं कि इस बार अवॉर्ड किसे देना है और यह 100 फीसदी सच है।”

उन्होंने दावा किया कि भारतीयों को 5 वर्षों तक लय बद्ध तरीके से मिस वर्ल्ड और मिस यूनिवर्स के अवार्ड से नवाजा गया जिससे भारतीय कॉस्मेटिक बाजार को कब्जाया जा सके तब से जब पुराने वक्त में भारतीय महिलाएं कॉस्मेटिक और शैंपू का इस्तेमाल नहीं करती थी।

बिप्लब देब ने कहा- ”भारतीय महिलाएं कॉस्मेटिक इस्तेमाल नहीं करती थीं। वे शैंपू का इस्तेमाल नहीं करती थीं। हम बालों के गिरने पर मेथी के पानी और मिट्टी से बाल धोते थे। सौंदर्य प्रतियोगिताओं के आयोजक अंतरराष्ट्रीय मार्केटिंग माफिया हैं, जिन्होंने 125 करोड़ भारतीयों के बाजार पर कब्जा करने की कोशिश की, जिनमें आधी महिलाएं हैं। हर कोने में एक ब्यूटी पार्लर है।”

बिप्लब देव ने कहा कि जब से बाजार कब्जाया जा चुका है, तब से सौंदर्य प्रतियोगिताओं को जीतने वाले भारत के नहीं हैं। हालांकि वह हरियाणा की मानुषी छिल्लर की बात भूल गए जो 2017 में विश्व सुंदरी बनी थीं। हाल ही में बिप्लब देव महाभारत काल में इंटरनेट उपलब्ध होने का दावा कर विवादों में आ गए थे।

Related Articles

छत्तीसगढ़ में हादसा: मूर्ति विसर्जन के लिए जा रहे लोगों को गाड़ी ने कुचला, एक की मौत, 16 घायल

जशपुर : छत्तीसगढ़ के जशपुर जिले में एक भीषण हादसे की जानकारी सामने आई है। यहां दुर्गा विसर्जन के लिए जा रहे कुछ लोगों...

सात नई रक्षा कंपनियों को पीएम मोदी ने किया राष्ट्र को समर्पित, भारत में बनेंगे पिस्टल से लेकर फाइटर प्लेन

नई दिल्लीः प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को सात नई रक्षा कंपनियों को राष्ट्र को समर्पित किया। उन्होंने कहा कि यह शुभ संकेत हैं...

दशहरे में रामचरित मानस की चौपाई के जरिए राहुल गांधी का मोदी सरकार पर निशाना, इस अंदाज में दी बधाई

नई दिल्लीः देशभर में दशहरा का त्यौहार मनाया जाएगा। इस अवसर पर कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने रामचरित मानस की चौपाई ट्वीट कर एक...

भागवत : ‘जिनकी मंदिरों में आस्था नहीं, उनपर भी खर्च हो रहा मंदिरों का धन’, 

नई दिल्ली: दशहरा के मौके पर संघ प्रमुख मोहन भागवत ने नागपुर स्थित संघ मुख्यालय में लोगों को संबोधित किया। मोहन भागवत ने ने...

वैचारिक भ्रम का शिकार:वरुण गांधी

भारतवर्ष में आपातकाल की घोषणा से पूर्व जब स्वर्गीय संजय गांधी अपनी मां प्रधानमंत्री इंदिरा गाँधी को राजनीति में सहयोग देने के मक़सद से...

जम्मू-कश्मीर: पुंछ में एक बार फिर शुरू हुई सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़

जम्मू: जम्मू संभाग में पुंछ जिले के मेंढर सब-डिवीजन के भाटादूड़ियां इलाके में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच एक बार फिर मुठभेड़ शुरू हो...

हरियाणा: कुंडली बॉर्डर पर युवक की हत्या, पिटाई के बाद हाथ काट बैरिकेड से लटकाया

चंडीगढ़ : हरियाणा के सोनीपत में कुंडली बॉर्डर पर युवक की बर्बर तरीके से हत्या कर दी गई। तीन कृषि कानूनों को रद्द कराने...

CM Kejriwal: उपराज्यपाल को लिखा पत्र- दिल्ली में बेहतर है कोरोना की स्थिति, मिलनी चाहिए छठ पूजा की अनुमति

नई दिल्लीः राजधानी दिल्ली में महापर्व छठ को लेकर असमंजस बरकरार है। दिल्ली सरकार ने इस बाबत गाइडलाइंस जारी करने के लिए केंद्र सरकार...

सावरकर हिंदुत्व को मानते थे, लेकिन वह हिंदूवादी नहीं थे – रक्षामंत्री

उन्होंने कहा कि हिंदुत्व को लेकर सावरकर की एक सोच थी जो भारत की भौगोलिक स्थिति और संस्कृति से जुड़ी थी। उनके लिए हिन्दू शब्द...

Stay Connected

5,577FansLike
13,774,980FollowersFollow
122,000SubscribersSubscribe
- Advertisement -

Latest Articles

छत्तीसगढ़ में हादसा: मूर्ति विसर्जन के लिए जा रहे लोगों को गाड़ी ने कुचला, एक की मौत, 16 घायल

जशपुर : छत्तीसगढ़ के जशपुर जिले में एक भीषण हादसे की जानकारी सामने आई है। यहां दुर्गा विसर्जन के लिए जा रहे कुछ लोगों...

सात नई रक्षा कंपनियों को पीएम मोदी ने किया राष्ट्र को समर्पित, भारत में बनेंगे पिस्टल से लेकर फाइटर प्लेन

नई दिल्लीः प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को सात नई रक्षा कंपनियों को राष्ट्र को समर्पित किया। उन्होंने कहा कि यह शुभ संकेत हैं...

दशहरे में रामचरित मानस की चौपाई के जरिए राहुल गांधी का मोदी सरकार पर निशाना, इस अंदाज में दी बधाई

नई दिल्लीः देशभर में दशहरा का त्यौहार मनाया जाएगा। इस अवसर पर कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने रामचरित मानस की चौपाई ट्वीट कर एक...

भागवत : ‘जिनकी मंदिरों में आस्था नहीं, उनपर भी खर्च हो रहा मंदिरों का धन’, 

नई दिल्ली: दशहरा के मौके पर संघ प्रमुख मोहन भागवत ने नागपुर स्थित संघ मुख्यालय में लोगों को संबोधित किया। मोहन भागवत ने ने...

वैचारिक भ्रम का शिकार:वरुण गांधी

भारतवर्ष में आपातकाल की घोषणा से पूर्व जब स्वर्गीय संजय गांधी अपनी मां प्रधानमंत्री इंदिरा गाँधी को राजनीति में सहयोग देने के मक़सद से...