जादवपुर यूनिवर्सिटी के छात्रों का प्रदर्शन, पुलिस का लाठीचार्ज

कोलकाता के सुलेखा मोड़ पर प्रदर्शन कर रहे छात्रों पर पुलिस ने लाठियां भांजी। वहीं, देशभर के कई विश्वविद्यालयों में जेएनयू हिंसा के खिलाफ विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं। तमिलनाडु के चेन्नई में छात्र-छात्राओं ने सोमवार को जेएनयू हिंसा का विरोध किया। उन्होंने कैंडल मार्च निकाला। इसके अलावा अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में भी जेएनयू हिंसा का विरोध देखने को मिला।

जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी में रविवार को हुई हिंसा के खिलाफ सोमवार को कोलकाता के जादवपुर यूनिवर्सिटी के छात्रों ने प्रदर्शन किया। जेएनयू हिंसा के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे छात्रों पर पुलिस ने लाठी चार्ज किया।

कोलकाता के सुलेखा मोड़ पर प्रदर्शन कर रहे छात्रों पर पुलिस ने लाठियां भांजी। वहीं, देशभर के कई विश्वविद्यालयों में जेएनयू हिंसा के खिलाफ विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं। तमिलनाडु के चेन्नई में छात्र-छात्राओं ने सोमवार को जेएनयू हिंसा का विरोध किया। उन्होंने कैंडल मार्च निकाला। इसके अलावा अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में भी जेएनयू हिंसा का विरोध देखने को मिला।

इसके अलावा कई और विश्वविद्यालयों के छात्रों ने प्रदर्शन करते हुए दिल्ली के जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) में हिंसा की निंदा की। जेएनयू के छात्रों और शिक्षकों के साथ एकजुटता दिखाने वाले प्रदर्शनकारियों में छात्रों, शिक्षकों और नागरिकों का समूह शामिल था।

प्रदर्शनकारियों ने मौलाना आजाद नेशनल उर्दू विश्वविद्यालय (एमएएनयूयू), हैदराबाद विश्वविद्यालय, उस्मानिया विश्वविद्यालय और अन्य स्थानों पर नारे लगाए और रैलियां निकालीं। एमएएनयूयू की तरफ से जारी प्रेस विज्ञप्ति के मुताबिक विश्वविद्यालय के शिक्षकों और छात्रों ने रविवार की रात जेएनयू में छात्रों और शिक्षकों पर नकाबपोश गुंडों द्वारा किए गए कथित अत्याचार को लेकर शांतिपूर्ण तरीके से मार्च निकाला।

एमएएनयूयू के करीब 200 शिक्षकों, शिक्षकेतर कर्मचारियों और छात्रों ने विश्वविद्यालय के मुख्य द्वार पर जुलूस निकाला और हाथों में तख्तियां लिए हुए ‘छात्र बचाओ, शिक्षक बचाओ, विश्वविद्यालय बचाओ के नारे लगाए।