33.5 C
Indore
Thursday, April 18, 2024

मध्यप्रदेश : आखिर कब रूकेगी कालाबाजारी ?

demo pic
demo pic

प्रदेश में चौदह साल बाद सफेद केरोसिन दुकानों से बेचा जा सकेगा। खाद्य एवं आपूर्ति विभाग इसे फिर बाजार में बेचने की योजना बना रहा है। प्रदेश में वर्ष 2000 से केरोसिन को खुले बाजार में बेचे जाने पर प्रतिबंध लगा दिया गया था। सरकार ने ऐसा इसकी कालाबाजारी रोकने की गरज से किया था। सरकार ने पहले केरोसिन का रंग बदला मगर बात बनी नहीं तो फिर सन 2000 में इसे खुले बाजार से ही हटा लिया गया। अब फिर खाद्य एवं आपूर्ति विभाग काला बाजारी रोकने के लिए केरोसिन को खुले बाजार में बेचने की जुगत में लग गया है।

सरकार का यह फैसला फौरी तौर पर तो अच्छा लग रहा है लेकिन यह कितना कारगर साबित होगा यह पूर्ववर्ती कोशिशों से मिली नाकामी ही दर्शा रही है। वास्तविक जरूरतमंदों का हक मारकर कालाबाजारी करने वाले खुद तो रातों रात मालामाल हो रहे हैं वहीं वे समाज में तंगहालों की फौज भी खड़ी कर रहे हैं। करोसिन, गेहूं, चावल आज भी गरीबों का सपना ही साबित हो रहे हैं। सरकारें इनकों लेकर अपनी पीठ खुद ही थपथपा ले लेकिन यह सच है कि आज भी दो जुन की जुगाड़ करने वाले इनके लिए अपना जीवन ही खपा रहे हैं।

करोसिन, गेहूं, चावल आज भी गरीबों का सपना ही साबित हो रहे हैं। सरकारें इनकों लेकर अपनी पीठ खुद ही थपथपा ले लेकिन यह सच है कि आज भी दो जुन की जुगाड़ करने वाले इनके लिए अपना जीवन ही खपा रहे हैं।

न तो उनकी माली हालात सुधरी और न ही सरकारी दावों के अनुसार उन्हें गेहूं, चावल और केरोसिन निर्धारित मात्रा में सही समय पर मिल रहा है। इसकी निगरानी करने वाला तंत्र कहीं न कहीं काला बाजारियों के गले में बाहें डाले अपना उल्लू सीधा करता हुआ नजर आ रहा है। ऐसा नहीं है कि जनप्रतिनिधियों और नौकरशाहों को काला बाजारियों के गोरखधंधे का पता नहीं है बल्कि वे बगुले के समान अपनी आंखे बंद होने का ढोंग करते हुए अपनी स्वार्थ सिद्धी में लगे हुए हैं। सरकारें चुनाव के समय तो आम मतदाता मेरा भगवान और मैं उसका पुजारी बताने वाले प्रतिनिधियों के जरिये माया जाल फैलाकर जीत के लिए जरूरी वोट तो कबाड़ लेती हैं लेकिन सत्ता का नशा चढ़ते ही मतदाताओं को भगवान भरोसे ही छोड़ देती हैं। कालाबाजारी समाज में गहरी खाई बना रही है तो वहीं कानून और कायदों की सरेआम धज्जियां उड़ा रही है।

सरकार ने राशन कार्डो के रंग बदले, खाद्यान्न की मात्रा बदली मगर वाह वाही लूट कर यह देखने की जहमत नहीं उठाई कि जरूरतमंदों को खाद्यान्न मिल भी रहा है कि नहीं। सरकारी उचित मूल्य दुकानों पर आज भी उपभोक्ताओं से अभद्रता करने की आम शिकायतें हैं। सेल्समेनों के रवैये में न तो कोई परिवर्तन आया है और न ही वे किसी को कुछ समझने को तैयार हैं। कालाबाजारी रोकने के लिए सख्त कानून बनाना ही काफी नहीं उस पर ईमानदारी से अमल करना भी जरूरी है। दिनों दिन बढ़ते काला बाजारियों के रसूख के सामने प्रशासन और जनप्रतिनिधि किस तरह अपना कद बढ़ा पाएंगे यह देखना दिलचस्प होगा वरना फिलहाल वे बौने ही साबित हो रहे हैं।

:- संजय चौबे

Sanjay Chaubeyलेखक परिचय :- संजय चौबे 1987 से सर डा. हरिसिंह गौर विश्वविद्यालय से पत्रकारिता में स्नातक है। वे दिल्ली, हरियाणा, महाराष्ट्र और मध्यप्रदेश में पत्रकारिता में सक्रिय रहे हैं। दैनिक विश्व मानव(करनाल, हरियाणा), दैनिक जागरण भोपाल मप्र, दैनिक देवगिरी समाचार (औरंगाबाद, महाराष्ट्र), दैनिक चेतना, राजएक्सप्रेस, नवभारत, संझा लोकस्वामी, प्रभातकिरण, स्वतंत्र समय भोपाल में सक्रिय पत्रकारिता करते रहे हैं। वर्तमान में पल-पल इंडिया जबलपुर के खंडवा ब्यूरो के रूप में कार्यरत हैं। .

Email :- sanjay.choubey7@gmail.com 

Related Articles

इंदौर में बसों हुई हाईजैक, हथियारबंद बदमाश शहर में घुमाते रहे बस, जानिए पूरा मामला

इंदौर: मध्यप्रदेश के सबसे साफ शहर इंदौर में बसों को हाईजैक करने का मामला सामने आया है। बदमाशों के पास हथियार भी थे जिनके...

पूर्व MLA के बेटे भाजपा नेता ने ज्वाइन की कांग्रेस, BJP पर लगाया यह आरोप

भोपाल : मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव से पहले ग्वालियर में भाजपा को झटका लगा है। अशोकनगर जिले के मुंगावली के भाजपा नेता यादवेंद्र यादव...

वीडियो: गुजरात की तबलीगी जमात के चार लोगों की नर्मदा में डूबने से मौत, 3 के शव बरामद, रेस्क्यू जारी

जानकारी के अनुसार गुजरात के पालनपुर से आए तबलीगी जमात के 11 लोगों में से 4 लोगों की डूबने से मौत हुई है।...

अदाणी मामले पर प्रदर्शन कर रहा विपक्ष,संसद परिसर में धरने पर बैठे राहुल-सोनिया

नई दिल्ली: संसद के बजट सत्र का दूसरा चरण भी पहले की तरह धुलने की कगार पर है। एक तरफ सत्ता पक्ष राहुल गांधी...

शिंदे सरकार को झटका: बॉम्बे हाईकोर्ट ने ‘दखलअंदाजी’ बताकर खारिज किया फैसला

मुंबई :सहकारी बैंक में भर्ती पर शिंदे सरकार को कड़ी फटकार लगी है। बॉम्बे हाईकोर्ट की नागपुर पीठ ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे...

सीएम शिंदे को लिखा पत्र, धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री को लेकर कहा – अंधविश्वास फैलाने वाले व्यक्ति का राज्य में कोई स्थान नहीं

बागेश्वर धाम के कथावाचक पं. धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री का महाराष्ट्र में दो दिवसीय कथा वाचन कार्यक्रम आयोजित होना है, लेकिन इसके पहले ही उनके...

IND vs SL Live Streaming: भारत-श्रीलंका के बीच तीसरा टी20 आज

IND vs SL Live Streaming भारत और श्रीलंका के बीच आज तीन टी20 इंटरनेशनल मैचों की सीरीज का तीसरा व अंतिम मुकाबला खेला जाएगा।...

पिनाराई विजयन सरकार पर फूटा त्रिशूर कैथोलिक चर्च का गुस्सा, कहा- “नए केरल का सपना सिर्फ सपना रह जाएगा”

केरल के कैथोलिक चर्च त्रिशूर सूबा ने केरल सरकार को फटकार लगाते हुए कहा है कि उनके फैसले जनता के लिए सिर्फ मुश्कीलें खड़ी...

अभद्र टिप्पणी पर सिद्धारमैया की सफाई, कहा- ‘मेरा इरादा CM बोम्मई का अपमान करना नहीं था’

Karnataka News कर्नाटक में नेता प्रतिपक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने कहा कि सीएम मुझे तगारू (भेड़) और हुली (बाघ की तरह) कहते हैं...

Stay Connected

5,577FansLike
13,774,980FollowersFollow
135,000SubscribersSubscribe
- Advertisement -

Latest Articles

इंदौर में बसों हुई हाईजैक, हथियारबंद बदमाश शहर में घुमाते रहे बस, जानिए पूरा मामला

इंदौर: मध्यप्रदेश के सबसे साफ शहर इंदौर में बसों को हाईजैक करने का मामला सामने आया है। बदमाशों के पास हथियार भी थे जिनके...

पूर्व MLA के बेटे भाजपा नेता ने ज्वाइन की कांग्रेस, BJP पर लगाया यह आरोप

भोपाल : मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव से पहले ग्वालियर में भाजपा को झटका लगा है। अशोकनगर जिले के मुंगावली के भाजपा नेता यादवेंद्र यादव...

वीडियो: गुजरात की तबलीगी जमात के चार लोगों की नर्मदा में डूबने से मौत, 3 के शव बरामद, रेस्क्यू जारी

जानकारी के अनुसार गुजरात के पालनपुर से आए तबलीगी जमात के 11 लोगों में से 4 लोगों की डूबने से मौत हुई है।...

अदाणी मामले पर प्रदर्शन कर रहा विपक्ष,संसद परिसर में धरने पर बैठे राहुल-सोनिया

नई दिल्ली: संसद के बजट सत्र का दूसरा चरण भी पहले की तरह धुलने की कगार पर है। एक तरफ सत्ता पक्ष राहुल गांधी...

शिंदे सरकार को झटका: बॉम्बे हाईकोर्ट ने ‘दखलअंदाजी’ बताकर खारिज किया फैसला

मुंबई :सहकारी बैंक में भर्ती पर शिंदे सरकार को कड़ी फटकार लगी है। बॉम्बे हाईकोर्ट की नागपुर पीठ ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे...