32.1 C
Indore
Wednesday, June 29, 2022

वैक्सीन का दूसरा डोज लेने में हुई देरी तो क्या होगा ? जानिए इन सवालों के जवाब

भारत में कोरोना वायरस की दूसरी लहर का कहर अब कंट्रोल में हैं। अब हर दिन एक लाख से भी कम केस आ रहे हैं लेकिन मरीजों का मौंत का सिलसिला अब भी जारी है। राहत की बात ये भी है धीरे-धीरे हालात अब काबू में आते दिख रहे हैं। वैक्सीनेशन का कोविड के प्रकोप पर काफी सकारात्मक प्रभाव पड़ा है। देश में लंबे वक्त से लोगों का टीकाकरण जारी है और जो वैक्सीनेट हो चुके हैं अब उनकी दोबारा डोज लेने की बारी है। हालांकि, मौजूदा वक्त में टीकों की कमी के चलते दूसरे डोज लेने को लेकर लोगों को चिंता में डाल दिया है। जबकि केंद्र सरकार अधिक से अधिक लोगों को वैक्सीनेट करने की पुरजोर कोशिश कर रही है। साथ ही पहला डोज ले चुके लोगों को दूसरी खुराक लेने के लिए जोर दे रही हैं।

ऐसे में यदि आप वैक्सीन का दूसरा डोज लेने की तारीख को याद कर रहे हैं तो आपके दिमाग में कुछ सवाल जरूर उठ रहे होंगे। जैसे क्या वैक्सीन का पहला डोज काफी है या फिर एक निश्चित तारीख के बाद शरीर में एंटीबॉडीज खत्म हो जाएंगी और टीके का असर कम हो जाएगा। या फिर आप दूसरे टीकाकरण को डिले कर सकते हैं और इसे कितना लेट कर सकते हैं? ऐसे कई सवालों के जवाब में नीचे दिए गए हैं।

अगर आप कोविड के प्रकोप से पूरी तरह से बचना चाहते हैं तो सभी को वैक्सीन के डबल डोज की जरूरत होती है। हेल्थ एक्सर्ट्स भी बार-बार इस बात पर जोर दे रहे हैं कि वैक्सीन के दोनों डोज मिलने से ही आप संक्रमण से पूरी तरह से बच सकते हैं। इसमें कोई दो राय नहीं कि पहला डोज भी काफी प्रभावी होता है लेकिन दूसरे डोज से इम्यून सिस्टम को और अधिक मजबूती मिलती है।

दूसरी खुराक शरीर में मौजूद इम्यून सिस्टम में मेमोरी-बी कोशिकाओं (Memory-B cells) को भी उत्पन्न करती है। ये एक तरह के वाइट ब्लड सेल होती हैं जिनमें मौजूद रिसेप्टर्स वायरस के शरीर में प्रवेश करते ही सिस्टम को सचेत कर देते हैं और संक्रमण से हमारी सुरक्षा करती हैं।

​Covishield की तुलना में Covaxin का अंतराल अंतराल कम क्यों होता है?

कुछ हेल्थ एक्सपर्ट्स का कहना है कि कोविशील्ड की तुलना में कोवैक्सिन पहली खुराक के साथ एक मजबूत एंटीबॉडी प्रतिक्रिया नहीं देती और इसलिए इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए दूसरी खुराक की आवश्यकता होती है। हालांकि, कोविशील्ड का पहला डोज भी काफी इफेक्टिव है और वायरस से बचाव में हमें लंबे समय तक इम्यूनिटी देता है।

मालूम हो कि ऐस्ट्राज़ेनेका की कोविशील्ड वैक्सीन के दो डोज के बीच के अंतराल को बढ़ाकर 12 से 16 हफ्ते का करने की सिफारिश की गई और साथ ही कोवैक्सीन 6 सप्ताह के बाद लगाई जा सकती है। द लैंसेट में छपी स्‍टडी के अनुसार, 12 हफ्तों के अंतराल पर कोविशील्‍ड की डोज देने पर उसका असर बढ़ जाता है।

निर्धारित तारीख पर वैक्सीन के दूसरे नहीं ले पाते तब क्या होगा?

एक्सपर्ट्स का कहना है कि अगर संभव हो सके तो निर्धारित तारीख को ही टीकाकरण कराएं। लेकिन किसी समस्या के चलते अगर उस डेट को वैक्सीन की दूसरी खुराक नहीं मिल पाती पाते तो इसमें घबराने की कोई बात नहीं है। दरअसल, कई लोग यह मान रहे हैं कि तय समय पर दूसरी डोज ना लगने परवैक्सीन की पहली डोज बेकार हो जाएगी और उन्हें फिर से पहली डोज से शुरुआत करनी पड़ेगी।

इस पर अभी कोई शोध भी नहीं हुआ है कि खुराक लेने में देरी होने से वैक्सीन का असर कम हो जाएगा। हालांकि, कोशिश करें कि निर्धारित डेट के नजदीक ही किसी दूसरी तारीख को चुनें। इससे आपको संक्रमण की संभावना कम रहेगी।

तय समय से कितने दिन तक डिले कर सकते हैं दूसरा डोज?

अगर वैक्सीन की कमी के चलते या फिर अन्य किसी समस्या के कारण आपको वैक्सीन की दूसरी डोज निर्धारित तारीख पर नहीं लग सकी या उससे 10-15 दिन ऊपर हो गए हैं तो घबराने की कोई जरूरत नहीं है। आप तब भी दूसरी डोज लगवा सकते हैं, क्योंकि पहली डोज आपके मेमरी सेल में मौजूद रहती है और दूसरी डोज लगने के बाद ही पूरी एंटीबॉडीज बनती हैं। कुछ समय की देरी से अगर सेकंड डोज लगती है तो उसका कोई नुकसान नहीं है।

कब होती है बूस्टर डोज की जरूरत?

वैज्ञानिकों का मानना है कि सिंगल डोज लेने के बाद कई मामलों में वायरस के खिलाफ शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बनी रहती है। ऐसे में यदि आप दोबारा वायरस के संपर्क में आते हैं तो ये प्रतिरोधक क्षमता दोबारा एक्टीवेट हो जाती है। लेकिन हर मरीज के साथ ऐसा हो ये भी जरूरी नहीं है। यदि वैक्सीनेशन के बाद मरीज के शरीर में ये प्रतिरोधक क्षमता नहीं बनती है तो ऐसे मामलों में बूस्टर डोज की जरुरत होती है।

पहली डोज के बाद संक्रमित हुए, कब लें दूसरी खुराक?

यदि आप टीके की पहली खुराक लेने के बाद COVID-19 से संक्रमित हो जाते हैं, तो आपको दूसरी खुराक के लिए 2-3 महीने तक इंतजार करने की सलाह दी जाती है। क्योंकि संक्रमित होने के बाद आपके शरीर में फिर से एंटीबॉडीज बननी शुरू हो जाती हैं।

Related Articles

महाराष्ट्र में सरकार बनाने की और BJP , केंद्रीय मंत्री दानवे बोले- विपक्ष में हम बस 2-3 दिन और

मुंबई : महाराष्ट्र में जारी सियासी संग्राम के बीच BJP ने महाराष्ट्र में सरकार बनाने के संकेत दिए हैं। केंद्र सरकार के मंत्री रावसाहेब...

Maharashtra Political Crisis राज ठाकरे की मनसे में शामिल हो सकता है शिंदे गुट !

मुंबई : महाराष्ट्र में पिछले एक सप्ताह से चल रहे सियासी ड्रामे के बीच नए समीकरण बनते दिख रहे हैं। अब खबर है कि...

द्रौपदी मुर्मू ने राष्ट्रपति पद के लिए नॉमिनेशन भरा, देश को मिल सकता है पहला आदिवासी प्रेजिडेंट

नई दिल्लीः झारखंड की पूर्व राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू ने आज NDA की ओर से राष्ट्रपति पद के लिए अपना नामांकन दाखिल कर दिया है।...

तो क्या बंद होने वाली हैं केंद्र सरकार की मुफ्त राशन वितरण वाली योजना ?

नई दिल्लीः उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनावों में भाजपा की जीत का एक बड़ा कारण राज्य में प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना (PMGKAY) के...

Maharashtra Political Crisis : मुंबई आकर बात करें तो छोड़ देंगे एमवीए : संजय राउत

मुंबई : महाराष्ट्र में महाविकास अघाड़ी सरकार पर गहराए राजनीतिक संकट के बीच शिवसेना नेता संजय राउत ने गुरुवार को बड़ा बयान दिया है।...

Maharashtra Political Crisis : शिवसेना की मीटिंग में पहुंचे 12 विधायक, एनसीपी ने बुलाई अहम बैठक

मुंबई : महाराष्ट्र के राजनीतिक संग्राम के बीच शिवसेना में बगावत बढ़ती जा रही है। बता दें कि शिवसेना के नेता एकनाथ शिंदे की...

खरगोन में जिला प्रशासन की बड़ी कार्रवाई, लाखों रुपये का तेल जप्त

खरगोन : मध्यप्रदेश के खरगोन में जिला प्रशासन की टीम ने कार्रवाई करते हुए एक व्यपारिक प्रतिष्ठान से लाखों रुपए कीमत का तेल जब्त...

सिर्फ नोटिस देकर चलाया गया जावेद के घर पर बुलडोजर, हाईकोर्ट के पूर्व चीफ जस्टिस बोले- यह पूरी तरह गैरकानूनी

लखनऊ : रविवार को उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने कथित तौर पर प्रयागराज हिंसा के मास्टरमाइंड मोहम्मद जावेद उर्फ जावेद पंप का घर...

43 घंटे से 11 वर्षीय बच्चे को बोरवेल से बाहर निकालने के लिए रेस्क्यू ऑपरेशन जारी

रायपुर : छत्तीसगढ़ के जांजगीर-चांपा जिले में बोरवेल में गिरे बच्चे को 43 घंटे बाद भी निकाला नहीं जा सका है। अधिकारियों का कहना...

Stay Connected

5,577FansLike
13,774,980FollowersFollow
126,000SubscribersSubscribe
- Advertisement -

Latest Articles

महाराष्ट्र में सरकार बनाने की और BJP , केंद्रीय मंत्री दानवे बोले- विपक्ष में हम बस 2-3 दिन और

मुंबई : महाराष्ट्र में जारी सियासी संग्राम के बीच BJP ने महाराष्ट्र में सरकार बनाने के संकेत दिए हैं। केंद्र सरकार के मंत्री रावसाहेब...

Maharashtra Political Crisis राज ठाकरे की मनसे में शामिल हो सकता है शिंदे गुट !

मुंबई : महाराष्ट्र में पिछले एक सप्ताह से चल रहे सियासी ड्रामे के बीच नए समीकरण बनते दिख रहे हैं। अब खबर है कि...

द्रौपदी मुर्मू ने राष्ट्रपति पद के लिए नॉमिनेशन भरा, देश को मिल सकता है पहला आदिवासी प्रेजिडेंट

नई दिल्लीः झारखंड की पूर्व राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू ने आज NDA की ओर से राष्ट्रपति पद के लिए अपना नामांकन दाखिल कर दिया है।...

तो क्या बंद होने वाली हैं केंद्र सरकार की मुफ्त राशन वितरण वाली योजना ?

नई दिल्लीः उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनावों में भाजपा की जीत का एक बड़ा कारण राज्य में प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना (PMGKAY) के...

Maharashtra Political Crisis : मुंबई आकर बात करें तो छोड़ देंगे एमवीए : संजय राउत

मुंबई : महाराष्ट्र में महाविकास अघाड़ी सरकार पर गहराए राजनीतिक संकट के बीच शिवसेना नेता संजय राउत ने गुरुवार को बड़ा बयान दिया है।...