23.1 C
Indore
Thursday, December 8, 2022

अकोला-खण्डवा गेज परिवर्तन में बायपास बनाने पर आपत्ति, जनमंच ने रेल मंत्री के नाम पत्र भेजा

खंडवा : देश में उत्तर भारत को दक्षिण भारत से जोडने वाले सबसे नजदीकी रेल मार्ग एंव अरावली कॉरीडोर का एक हिस्सा अकोला-खंडवा मीटरगेज से ब्रॉडगेज का परिवर्तन कार्य चल रहा है।इसमें मेलघाट टाईगर रिजर्व के बाहर से रेल बायपास बनाने पर स्थानीय जनमंच ने आश्चर्य व्यक्त किया है।

जनमंच प्रवक्ता कमल नागपाल ने बताया कि शुक्रवार सुबह प्रतिनिधि मंडल रेल प्रबंधक श्री जी एल मीणा से मिला और केंद्रीय रेल मंत्री के नाम एक पत्र सौंपा।इसमें बताया गया कि मीटरगेज रेल लाईन के गेज परिवर्तन के बीच मेलघाट टाईगर रिजर्व है,जिस पर महज मुठठी भर कुछ लोगो द्वारा अपने क्षेत्र से रेल गाडी ले जाने के लिये उठाई गई आपत्ति पर महाराष्ट्र सरकार ने टाईगर रिजर्व के बाहर से रेल बाईपास बनाने का आग्रह किया है।

यह बिलकुल व्यवहारिक नहीं है।खंडवा,अकोट,आमलाखुर्द, अकोला,वाशिम,हिंगोली,बसमत, नांदेड के लाखो नागरिक रेल बायपास का विरोध कर रहे हैं,क्योंकि नये रेल बायपास पर 750 करोड रुपयो का अतिरिक्त खर्च, 6.5 किलोमीटर की सुरंग, हजारो हेक्टेयर खेतो का भुमि अधिग्रहण पर किसानो की आपत्ति, रेल बाईपास से रेल गाडीयों को अतिरिक्त इंधन, अतिरिक्त समय लगेगा।

रेल बाईपास वाला क्षेत्र आदिवासी जन जाति बहुल होने से रेल विभाग को आय नही होगी, रेल बायपास के लिये हजारों बडे बडे पेडो को तोडा जायेगा जिससे पर्यावरण का भी ज्यादा नुकसान होगा।

Video – उद्धव ठाकरे सरकार के फरमान से अटका अकोला-खंडवा ब्रॉडगेज काम

सामाजिक संस्था जनमंच के चंद्रकुमार सांड,प्रमोद जैन,सुनील जैन,देवेंद्र जैन,डॉ जगदीशचंद्र चौरे, एन के दवे,अनुराग बंसल,जयरामदास खेमानी और कमल नागपाल आदि द्वारा हस्ताक्षरित आवेदन में बताया गया है कि टाईगर रिजर्व में रेल पटरी से परतवाडा वाले पुर्व दिशा में 95 प्रतिशत जंगल है,और रेल पटरी के बुरहानपुर यानी पश्चिम दिशा में केवल 5 प्रतिशत जंगल है।

शेर 95 प्रतिशत घना जंगल छोडकर केवल 5 प्रतिशत मानवीय बस्ती के समीप वाले क्षेत्र में नहीं आते हैं। उसके बावजुद अगर बुलेट और मेट्रो रेल की भांती 29 किलोमीटर के मेलघाट टाईगर रिजर्व वाले क्षेत्र की पटरीयों को हर 500 मीटर पर जमीन से उपर 500 मीटर लंबे 29 पुल बना कर तथा कुछ जगहों पर रेल पटरी को पहाड़ों में सुरंग के अंदर रेल गाडी गुजारा जाये,साथ ही साथ हर 100 मीटर पर रेल पटरी पर 20 मीटर चौडे पुल बनाये जाये तो निश्चित तौर पर शेरो को पटरी के नीचे से और उपर से मुक्त संचरण करने मे काफी आसानी होगी। जमीनी पटरीयों के दोनो ओर तार फेंसिंग कर सुरक्षित किया जाये, इससे खर्च कम होगा,पर्यावरण प्रेमियों की आपत्ति का भी निराकरण हो जाएगा। लाखों रेल यात्रियों की भावनाओं तथा देश के नुकसान को देखकर उचित निर्णय लेकर रेल बायपास को मंजुरी नही देने का केंद्रीय रेल मंत्री से आग्रह किया गया है।

Related Articles

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने किया पौध-रोपण

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने किया पौध-रोपण मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने स्मार्ट सिटी उद्यान में आई फॉर ह्यूमेनिटी फाउंडेशन की सुश्री जूही राजपूत तथा...

ग्लोबल स्किल पार्क का निर्माण तेजी से पूरा करें: मुख्यमंत्री श्री चौहान

मुख्यमंत्री ने किया पार्क का निरीक्षण सिंगापुर के सहयोग से निर्माणाधीन जीएसपी में 6 हजार युवाओं को दिया जाएगा प्रशिक्षण मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने...

पंचायत प्रतिनिधि ग्राम को समरस, स्वच्छ और पर्यावरण हितैषी बनाएँ : मुख्यमंत्री श्री चौहान

मुख्यमंत्री ने सरपंचों से की अपेक्षा : योजनाओं के मैदानी क्रियान्वयन पर रखे नजर सरपंचों को मास्टर ट्रेनर के रूप में समझाए नियम और अधिकार ग्राम...

मुख्यमंत्री शहरी स्लम स्वास्थ्य योजना से अब तक 35 लाख से ज्यादा लोगों का निःशुल्क इलाज

मुख्यमंत्री शहरी स्लम स्वास्थ्य योजना से अब तक 35 लाख से ज्यादा लोगों का निःशुल्क इलाज मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने ऐसी परिकल्पना की थी...

निवेश के लिए आदर्श राज्य है मध्यप्रदेश – मुख्यमंत्री श्री चौहान

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि मध्यप्रदेश भारत का सबसे तेजी से बढ़ता प्रदेश है। हम देश का दिल हैं। देश...

मुख्यमंत्री ने सरायपाली में किया 28 करोड़ 65 लाख रुपए के विकास कार्याें का भूमिपूजन एवं लोकार्पण

मुख्यमंत्री ने सरायपाली में किया 28 करोड़ 65 लाख रुपए के विकास कार्याें का भूमिपूजन एवं लोकार्पण मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल अपने प्रदेशव्यापी भेंट-मुलाकात कार्यक्रम...

जन-समुदाय का सहयोग टी.बी. मुक्त भारत अभियान की सफलता का आधार : राज्यपाल श्री पटेल

जन-समुदाय का सहयोग टी.बी. मुक्त भारत अभियान की सफलता का आधार : राज्यपाल श्री पटेल राज्यपाल श्री पटेल ने "नि-क्षय मित्र" समारोह को संबोधित किया हानिकारक...

मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल गोधन न्याय योजना के हितग्राहियों को राशि वितरण कार्यक्रम में हो रहे हैं शामिल

मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल गोधन न्याय योजना के हितग्राहियों को राशि वितरण कार्यक्रम में हो रहे हैं शामिल मुख्यमंत्री श्री बघेल अपने निवास कार्यालय में...

मैनपुरी में रिकॉर्ड जीत की ओर डिंपल यादव, बीजेपी खाली हाथ

मैनपुरी में रिकॉर्ड जीत की ओर डिंपल यादव, बीजेपी खाली हाथ  नेताजी मुलायम सिंह यादव के निधन के कारण यह सीट खाली हुई थी। समाजवादी...

Stay Connected

5,577FansLike
13,774,980FollowersFollow
130,000SubscribersSubscribe
- Advertisement -

Latest Articles

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने किया पौध-रोपण

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने किया पौध-रोपण मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने स्मार्ट सिटी उद्यान में आई फॉर ह्यूमेनिटी फाउंडेशन की सुश्री जूही राजपूत तथा...

ग्लोबल स्किल पार्क का निर्माण तेजी से पूरा करें: मुख्यमंत्री श्री चौहान

मुख्यमंत्री ने किया पार्क का निरीक्षण सिंगापुर के सहयोग से निर्माणाधीन जीएसपी में 6 हजार युवाओं को दिया जाएगा प्रशिक्षण मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने...

पंचायत प्रतिनिधि ग्राम को समरस, स्वच्छ और पर्यावरण हितैषी बनाएँ : मुख्यमंत्री श्री चौहान

मुख्यमंत्री ने सरपंचों से की अपेक्षा : योजनाओं के मैदानी क्रियान्वयन पर रखे नजर सरपंचों को मास्टर ट्रेनर के रूप में समझाए नियम और अधिकार ग्राम...

मुख्यमंत्री शहरी स्लम स्वास्थ्य योजना से अब तक 35 लाख से ज्यादा लोगों का निःशुल्क इलाज

मुख्यमंत्री शहरी स्लम स्वास्थ्य योजना से अब तक 35 लाख से ज्यादा लोगों का निःशुल्क इलाज मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने ऐसी परिकल्पना की थी...

निवेश के लिए आदर्श राज्य है मध्यप्रदेश – मुख्यमंत्री श्री चौहान

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि मध्यप्रदेश भारत का सबसे तेजी से बढ़ता प्रदेश है। हम देश का दिल हैं। देश...