उप चुनाव : सांसद ने की घोषणा, नारायण पटेल ही होंगे भाजपा के उम्मीदवार

खण्डवा जिले की मांधाता विधानसभा सीट पर उपचुनाव में बीजेपी के प्रत्याशी होंगे नारायण पटेल।

भाजपा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष और खण्डवा सांसद नंदकुमारसिंह चौहान ने मुंदी में मंच से घोषणा की।

नारायण पटेल ने कांग्रेस विधायक पद से इस्तीफा देकर की थी बीजेपी जॉइन।
नारायण पटेल ने कहा में कोई बिकाऊ नहीं क्षेत्र के विकास के लिए बीजेपी का थामा दामन ।

खंडवा : मध्यप्रदेश में उपचुनाव को लेकर हलचल तेज़ होते जा रही हैं। खंडवा के मांधाता विधान सभा से कांग्रेस के विधायक नारायण पटेल ने इस्तीफा देकर भाजपा का दमन थाम लिया था। उसके बाद से ही मांधाता में भाजपा के कई नेताओ ने दावेदारी जाताना शुरू कर दिया था। लेकिन आज भाजपा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष और खण्डवा सांसद नंदकुमारसिंह चौहान ने मंच से घोषणा करते हुए साफ कर दिया की मांधाता से एक बार फिर नारायण पटेल को ही भाजपा उमीदवार बनाएगी। नंदकुमार सिंह चौहान से नारायण पटेल के नाम की घोषणा करते हुए कमलनाथ पर जमकर निशाना साधा। इस दौरन पटेल ने भी कमलनाथ पर वादा खिलाफी के आरोप लागए। पुरे आयोजन में सोशल डिस्टेंसिंग की खुलेआम धज्जियां उड़ती रही।

कांग्रेस छोड़ भाजपा में जाने वाले मांधाता के पूर्व विधायक नारायण पटेल आज अपनी विधानसभा पहुंचे जहां भाजपा के कार्यकर्ताओं ने उनका स्वागत किया। बड़ी संख्या में मौजूद कार्यकर्ताओं और नेताओं के बीच खण्डवा सांसद नंदकुमारसिंह चौहान ने मंच घोषणा करी की हाईकमान ने फैसला लिया हैं की मांधाता से नारायण पटेल को ही चुनाव में उतारा जाएगा। उन्होंने बीजेपी कार्यकर्ताओं और नेताओं को हिदायत देते हुए कहा कि अब नारायण पटेल भाजपा का ही हिस्सा हैं। उन्हें यहाँ से चुनाव जीता कर फिर से विधायक बनाना हैं। ताकि शिवराज सरकार को मजबूती मिल सके। सांसद नंदकुमार ने कमलनाथ पपर निशाना साधते हुआ कहा कि कांग्रेस पार्टी ने बेहरुपीये के रूप में चुनाव जीत कर आई। कांग्रेस के पूर्व विधायक नारायण पटेल विकास करना चाहते थे लेकिन उन्हें विकास नहीं करने दिया जिसके चलते नारायण पटेल कांग्रेस छोड़ भाजपा में शामिल हो गए। खण्डवा सांसद नंदकुमारसिंह चौहान ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि जैसे मांधाता में नारायण पटेल को भाजपा टिकट दे रही हैं वैसे ही नेपानगर विधानसभा से भी कांग्रेस छोड़ भाजपा में आई सुमित्रा क़स्देकर को ही टिकट दिया जाएगा।

इधर नारायण पटेल से कहा कि कांग्रेस मुझ पर गद्दारी का आरोप लगा रही है लेकिन मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता। उन्होंने कमलनाथ पर आरोप लगाते हुए कहा कि कमलनाथ को उन्होंने क्षेत्र के विकास के लिए कई बार पत्र लिखें लेकिन उन्होंने कोई बात नहीं की। जिससे दुःखी होकर में भाजपा हाईकमान से मिला और भाजपा में शामिल हो गया। अब भाजपा ने मुझ पर भरोसा जाता कर वीर से उम्मीदवार बनाया हैं ताकि में क्षेत्र का विकास कर सकू। बता दे कि नारायण पटेल कांग्रेस के सीनियर लीडर अरुण यादव के करीबी माने जाते थे। चर्चा यह भी हैं कि मांधाता से कांग्रेस पटेल के सामने अरुण यादव को मैदान में उतार सकती हैं।