चिदंबरम का सीतामरण पर तंज, कहा- प्याज नहीं खातीं तो क्या एवोकाडो खाती हैं

नई दिल्ली : पूर्व केंद्रीय मंत्री पी चिदंबरम तिहाड़ जेल से रिहा होने के बाद गुरुवार को संसद पहुंचे। संसद भवन के बाहर मीडिया से बात करते हुए पूर्व वित्त मंत्री ने कहा कि सरकार संसद में उनकी आवाज दबा नहीं सकती।

चिदंबरम ने सरकार पर हमला करते हुए कहा कि अर्थव्यवस्था गलत हाथों में है और सरकार अर्थव्यवस्था संभाल नहीं पा रही है।

पी चिदंबरम ने वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के बयान पर तंज कसते हुए कहा कि वह प्याज नहीं खातीं तो क्या एवोकाडो खाती हैं।

पूर्व वित्त मंत्री से मीडिया ने जब प्याज के बढ़ते दामों के बारे में बात की तो उन्होंने कहा कि सरकार के पास ऐसा कोई तरीका नहीं है जिससे प्याज के दाम पर रोक लगाई जा सके।

उन्होंने वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के उस बयान पर भी तंज कसा, जिसमें उन्होंने कहा था कि उनका परिवार प्याज-लहसुन जैसी चीजों को खास पसंद नहीं करता है।

उन्होंने कहा था ‘मैं बहुत ज्यादा प्याज-लहसुन नहीं खाती, इसलिए चिंता न करें। मैं ऐसे परिवार से आती हूं, जिसे प्याज की कोई खास परवाह नहीं है।

गौरतलब है कि कांग्रेस सांसदों ने संसद भवन परिसर में महात्मा गांधी की प्रतिमा के समक्ष प्याज की बढ़ती कीमतों के विरोध में प्रदर्शन किया, जिसमें पी चिदंबरम के अलावा गौरव गोगोई, अधीर रंजन चौधरी, कुमारी शैलजा, के सुरेश, कार्ति चिदंबरम आदि ने हिस्सा लिया।

चिदंबरम 106 दिन तिहाड़ जेल में बिताने के बाद बुधवार को रिहा हुए जब सुप्रीम कोर्ट से उन्हें जमानत मिल गई। जेल से बाहर निकलने के बाद पी चिदंबरम ने मीडिया को संबोधित किया और कहा, ‘मुझे 106 दिन तक कैद में रखा गया, जबकि मेरे खिलाफ एक भी आरोप तय नहीं किए गए। मैं इन सभी का जवाब जल्द दूंगा।