अर्शी खान से मिले तेज प्रताप यादव, तस्वीरें वायरल

पटना: राजद मुखिया लालू प्रसाद यादव के बड़े लाल तेज प्रताप यादव इन दिनों अपने परिवार और पार्टी से खासे नाराज चल रहे हैं, पिता की अनुपस्थिति में पार्टी की कमान संभाल रहे छोटे भाई तेजस्वी यादव से भी उनकी नहीं बन रही है, दोनों के बीच काफी मतभेद हैं, हालांकि तेजस्वी अभी भी अपने बड़े भैया के बारे में कुछ कह नहीं रहे हैं लेकिन तेज प्रताप के बागी सुर प्रबल हैं, सोमवार को यह बात और बढ़ गई क्योंकि कल तेज प्रताप यादव अपनी नई पार्टी की घोषणा कर दी, तेज ने अपनी पार्टी का नाम रखा है- लालू राबड़ी मोर्चा।

लेकिन इसी बीच एक और खबर ने तेज प्रताप को लाइमलाइट में ला दिया है, इस वक्त सोशल मीडिया पर तेज प्रताप के साथ बिग बॉस सीजन-11 फेम अर्शी खान की तस्वीर वायरल हो रही हैं, जिसके बारे में अर्शी खान ने खुद कहा कि उन्होंने 30 मार्च को तेज प्रताप से मुलाकात की थी, सबकी अपनी पर्सनल लाइफ होती है और उनकी भी है, मेरी भी है, वो और तेज अच्छे दोस्त हैं और दोस्त से मिलने में किसी को कोई दिक्कत नहीं होनी चाहिए लेकिन इससे ज्यादा उन्होंने मीडिया में और कुछ भी कहने से इनकार कर दिया है, हालांकि उन्होंने ये भी बताया कि तेज ने उन्हें भगवत गीता की किताब गिफ्ट की है।

बताते चलें कि ये वो ही विवादित बाला अर्शी खान हैं, जो कि कुछ वक्त पहले इसलिए सुर्खियों में थीं क्योंकि इन्होंने खुद को पाकिस्तानी स्टार क्रिकेटर शाहिद अफरीदी की प्रेमिका कहा था, इन्होंने मीडिया में बयान दिया था कि अफरीदी ने उनसे शादी करने का वादा किया था और वो अफरीदी के बच्चे की मां भी बनने वाली थीं लेकिन किसी काऱणवश उनका गर्भपात हो गया था। जिसके बाद भारत और पाकिस्तान दोनों ही जगह इस खबर ने हंगामा पैदा कर दिया था।

जिस पर प्रतिक्रिया देते हुए अफरीदी ने इस बात के लिए अर्शी समेत पूरी इंडियन मीडिया को कोसा था, उन्होंने कहा था कि कुछ भारतीय मीडिया तंत्र जानबूझकर उनका नाम खराब करने की कोशिश कर रहे हैं और उनके निजी संबंधों को दूसरे ही आकार-रूप में बेच रहे हैं, अफरीदी के इस रिएक्शन पर भी काफी बवाल मचा था।

हालांकि बवाल मचने के बाद अर्शी खान बिग बॉस 11 में हिस्सा बनी थीं, जिसमें उन्होंने अपनी इस बात पर अफसोस जाहिर किया था लेकिन अफरीदी वो हमेशा उनके महबूब रहेंगे।

फिलहाल ये बीते दिनों की बात है बीते 28 फरवरी को अर्शी खान ने महाराष्ट्र में कांग्रेस की सदस्यता ली थी। साथ ही उन्हें मुंबई कांग्रेस का उपाध्यक्ष भी बनाया गया था। अर्शी से जब पूछा गया कि किस विचारधारा से प्रेरित होकर कांग्रेस की सदस्यता ली तो उन्होंने कहा कि उन्होंने नहीं बल्कि कांग्रेस ने उन्हें ज्वाइन किया है लेकिन अब तेज प्रताप संग उनकी मुलाकात ने कई अटलकों को जन्म दे दिया है क्योंकि इस वक्त चुनावी पारा काफी गर्म है और तेज प्रताप ने बगावती सुर अख्तियार किया हुआ है, देखते हैं ये मुलाकात आगे क्या संदेश लाती है?