जयपुर में कोऑपरेटिव बैंक से 157 करोड़ कैश बरामद

 Demo-Pic
Demo-Pic
नई दिल्ली- देश में जब से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 8 नवंबर से नोटबंदी का ऐलान किया है तब से देश के अलग-अलग शहरों में बैंकों के जरिए कालाधन सफेद करने के मामले भी सामने आने लगे हैं। आयकर विभाग की कार्रवाई में कई शहरों में बड़े लोगों के घरों से भी करोड़ों का कैश बरामद हुआ है।

अब जयपुर में कोऑपरेटिव बैंक से 157 करोड़ कैश बरामद होने की खबर आई है। इतना ही नहीं आयकर विभाग को छापेमारी में दो किलो सोना व 1.38 करोड़ के 2000 के नए नोट भी मिले।

ईटीवी राजस्थान के अनुसार राजस्थान के जयपुर में इनकम टैक्स को बड़ी कामयाबी हासिल हुई है। यहां के द इंटीग्रल अर्बन कोऑपरेटिव बैंक में आयकर ने छापा मारा और 156.59 करोड़ कैश बरामद किया है। इसके अलावा 1.38 करोड़ के 2000 के नए नोट भी बरामद हुए हैं। इसके अलावा बैंक से खाली लॉकर में दो किलो सोना भी मिला है। यह बैंक विल्फर्ड एजुकेशन सोसाइटी चलाती है। इनकम टैक्स ने सोसाइटी के दफ्तर में भी छापेमारी की। बताया जा रहा है कि छापेमारी के बाद को-ऑपरेटिव बैंक ग्राहकों में खलबली मच गई।

कर्नाटक में मिला था 32 किलो सोना-चांदी
शनिवार को आयकर विभाग ने कर्नाटक में हवाला कारोबारी के घर से 32 किलो सोना-चांदी और 5.7 करोड़ के 2000 रुपए वाले नए नोट बरामद किए थे। इसके अलावा 90 लाख के पुराने नोट भी जब्त किए गए थे। हवाला कारोबारी ने यह कालाधन अपने बाथरुम में बनाए गए तहखाने में छुपाया गया था। बाथरूम में यह तहखाना टायलों के पीछे बनाया गया था। [एजेंसी]