जीतू सोनी गुजरात से गिरफ्तार


हनीट्रैप मामले में कई नेताओं और अधिकारियों के वीडियो सामने लाकर सुर्खियों में आए सांध्य अखबार के मालिक जीतू सोनी को गुजरात से गिरफ्तार कर लिया गया है।

जीतू सोनी के भाई महेंद्र सोनी को पिछले दिनों क्राइम ब्रांच की टीम ने गुजरात से गिरफ्तार किया था। वहीं, पुलिस के पहुंचने से पहले जीतू सोनी फॉर्म हाउस से फरार हो गया था। इंदौर के डीआईजी ने जीतू सोनी की गिरफ्तारी की पुष्टि की है।

जीतू सोनी की गिरफ्तारी को लेकर इंदौर पुलिस शाम 4 बजे खुलासा करेगी। दरअसल, एमपी हनीट्रैप के मामले उजागर होने के बाद, उसकी जांच एसआईटी कर रही है।

जीतू सोनी इंदौर में एक सांध्य अखबार चलाता था। उसने हनीट्रैप से जुड़े कई वीडियो को सामने लाया था। उसके बाद पुलिस ने जीतू सोनी के अवैध कारनामों का खुलासा शुरू कर दिया। जीतू सोनी अखबार की आड़ में इंदौर शहर में कई काले कारनामों को अंजाम दे रहा था।

जीतू सोनी ने पत्रकारिता की आड़ में इंदौर में कई गोरखधंधे को अंजाम दे रहा था। जिसमें होटल और डांस बार के संचालन से लेकर अवैध तरीके से फ्लैट और फ्लॉट का कब्जा तक शामिल था।

जीतू के साम्राज्य के बारे में पुलिस ने जब खुलासा किया तो इंदौर के लोग भी हैरान रह गए थे। उसके डांस बार पर छापेमारी की गई तो 76 लड़कियों को बाहर निकाला गया। जिन्हें अवैध तरीके से जीतू ने कैद कर रखा था।

इंदौर पुलिस ने जीतू के कई अवैध बंगले और होटल को भी तोड़ा है। जिसे जीतू ने पत्रकारिता की आड़ में गलत तरीके से बनाया था।

जीतू की तूती इंदौर में इतनी बोलती थी, कानून का उसका सामने कुछ नहीं चलता था। जांच के दौरान यह भी बात सामने आई थी, कुछ अधिकारियों ने भी उसकी मदद की है।

जीतू के खिलाफ इंदौर में दर्जनों केस दर्ज हैं। जिसमें धोखाधड़ी और ब्लैकमेलिंग के मामले ज्यादा हैं। अखबार में खबरों के जरिए वह लोगों को ब्लैकमेल करता था। साथ ही उनसे मोटी रकम वसूलता था।

जीतू पर यह भी आरोप लगा है कि अपने डांस बार में वह सफेशपोशों को बुलाकर उन्हें ट्रैप करता था और उनसे रकम की वसूली करता था। अपने काले कारनामों से जीतू ने इंदौर में अरबों रुपये की संपत्ति बनाई है। जिसे माफियाओं के खिलाफ कार्रवाई के दौरान नेस्तनाबूद भी किया गया है।