27.1 C
Indore
Friday, August 12, 2022

पाकिस्तान: बेगुनाह भगत सिंह को मिली थी फांसी ?

Bhagat Singhनई दिल्ली/लाहौर-फांसी के 85 साल बाद शहीद भगत सिंह को बेगुनाह साबित करने की कोशिश शुरू हुई है। पाकिस्तान के लाहौर हाईकोर्ट में बुधवार को ब्रिटिश पुलिस ऑफिसर सॉन्डर्स के मर्डर केस में सुनवाई शुरू हुई। भगत सिंह को अंग्रेज सरकार ने 23 मार्च 1931 को फांसी दे दी थी।

हालांकि लाहौर की अदालत ने कहा है कि भगत सिंह को सजा तीन सदस्यीय खंडपीठ ने दी थी इसलिए अब दो सदस्यीय खंडपीठ इस मामले की सुनवाई नहीं कर सकती है।

क्या है मामला?
पिटीशन भगत सिंह, सुखदेव, राजगुरु द्वारा कथित रूप से ब्रिटिश पुलिस ऑफिसर की हत्या करने के मामले में है। पिटीशन में कहा गया है कि पहले भगत सिंह को उम्रकैद की सजा सुनाई गई थी लेकिन बाद में केस को बढ़ाचढ़ाकर उन्हें फांसी दे दी गई।

गौरतलब है कि भगत सिंह को ब्रिटिश अधिकारी सांडर्स की हत्या में लाहौर में फांसी दी गई थी। इसके करीब 85 साल बाद लाहौर हाईकोर्ट एक याचिका के आधार पर इस मामले की सुनवाई शुरू कर रहा है। भगत सिंह को अंग्रेज सरकार ने 23 मार्च 1931 को फांसी दे दी थी।

ज्ञात हो कि 2014 में लाहौर पुलिस ने 1928 में सॉन्डर्स की हुई हत्या की एफआईआर की ओरिजिनल कॉपी मुहैया कराई थी। इस कॉपी में भगत सिंह का नाम नहीं है, जबकि इसी मामले में उन्हें फांसी दी गई थी। लाहौर पुलिस ने अनारकली पुलिस स्टेशन से कोर्ट के आदेश के बाद सॉन्डर्स की हत्या में दर्ज हुई एफआईआर की कॉपी खोजी थी। यह उर्दू में लिखी गई थी। मामला 17 दिसंबर 1928 को शाम 4.30 बजे अनारकली पुलिस स्टेशन पर दर्ज हुआ था। यह केस आईपीसी के सेक्शन 302, 201 और 190 के तहज दर्ज किया गया था।

पिटीशन लगाने वाले वकील कुरैशी ने कहा है कि ट्रिब्यूनल के स्पेशल जज ने भगत सिंह को जब फांसी की सजा सुनाई, तब इस मामले के 450 गवाहों को नहीं सुना गया। भगत सिंह के वकीलों को दलील का मौका तक नहीं दिया गया था।

भगत सिंह मेमोरियल फाउंडेशन के चेयरमैन वकील इम्तियाज राशिद कुरैशी ने नवंबर में कोर्ट में इस केस पर सुनवाई के लिए पिटीशन दाखिल की थी। कुरैशी ने कहा है कि भगत सिंह फ्रीडम फाइटर थे और उन्होंने आजादी दिलाने की लड़ाई लड़ी थी। पिटीशन में उन्हें बेगुनाह एलान करने की मांग की गई है। कुरैशी का कहना है कि मैं सॉन्डर्स की हत्या में भगत सिंह को बेगुनाह साबित करके रहूंगा।

लाहौर हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस इजाजुल अहसान ने जस्टिस खालिद महमूद खान की अगुआई में दो डिविजन बेंच बनाई है। आखिरी सुनवाई जस्टिस शुजात अली खान ने मई 2013 में की थी। तब उन्होंने केस को चीफ जस्टिस के पास बड़ी बेंच बनाने के लिए भेजा था।

[एजेंसी]

Related Articles

खरगोन में मॉब लॉन्चिंग का वीडियो वायरल, अंडरवियर उतार के देखा युवक धर्म विशेष का तो नहीं

खरगोन: मध्यप्रदेश के खरगोन जिले के औद्योगिक क्षेत्र में निमरानी में मॉब लॉन्चिंग का मामला सामने आया है। चार दिन पूर्व एक फैक्ट्री के...

संजय राउत की पत्नी पहुंचीं ED दफ्तर, आमने-सामने बैठाकर हो सकती है पूछताछ

मुंबई : पात्रा चॉल घोटाले में आरोपों का सामना कर रहे शिवसेना सांसद संजय राउत की पत्नी वर्षा राउत प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के दफ्तर...

MP के वन मंत्री का बयान: ‘किशोर कुमार अवार्ड’ के लिए फिल्मी सितारों को आना होगा खंडवा, मुंबई नहीं पहुंचाएगी शिवराज सरकार

खंडवा: मध्यप्रदेश के खंडवा में वन मंत्री ने प्रदेश सरकार द्वारा दिए जानेवाले राष्ट्रीय किशोर कुमार अलंकरण सम्मान को लेकर बड़ा बयान दिया है।...

खंडवा के गौरव दिवस के आयोजन में बजा “लड़की आंख मारे” हिन्दू संगठन और ABVP ने जताया विरोध, महिला अधिकारियों पर कार्यवाही की मांग

खंडवा : मध्यप्रदेश में शिवराज सरकार निर्णय लिया है कि वह हर शहर का गौरव दिवस बनाएगी। 4 अगस्त को किशोर कुमार के जन्मदिन...

खंडवा के दंपत्ति ने खरगोन से डेढ़ साल के मासूम का किया अपहरण, पुलिस ने दबोचा

खरगोन : मध्यप्रदेश में खरगोन के निजी शारदा हॉस्पिटल परिसर से दिनदहाड़े डेढ़ साल के मासूम की घटना सामने आई हैं। गनीमत रही समय...

MP: खालिस्तानी आतंकी गिरफ्तार, अवैध हथियारों की कर रहा था तस्करी

पुलिस अधीक्षक राहुल कुमार लोढ़ा ने बताया कि पकड़ा गया आरोपी खालिस्थान मूमेंट से कनेक्टेट है इस तरह का इनपुट हमें जनवरी में मिला...

साध्वी ऋतंभरा के आश्रम स्टाफ पर 3 माह बाद आदिवासी बच्चियों की मौत के मामले में FIR

खंडवा - मध्यप्रदेश के खंडवा जिले में ओम्कारेश्वर स्थित साध्वी ऋतंभरा के आश्रम स्टाफ के खिलाफ थाना मांधाता में मामला दर्ज किया है।...

नूपुर शर्मा के पक्ष में की थी पोस्ट, खण्डवा के युवक को पाकिस्तान के मोबाइल नंबर से मिली जान से मरने की धमकी

खंडवा : मध्यप्रदेश के खंडवा में नूपुर शर्मा के पक्ष में सोशल मिडिया पर पोस्ट डालने को लेकर पाकिस्तान से धमकी मिली हैं। राजस्थान...

मध्य प्रदेश में चुनाव कराना ही बंद कर देना चाहिए – पूर्व सीएम

राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह ने कहा निर्वाचन आयोग के असहायपन पर दया आती है। एमपी में चुनाव कराना ही बंद कर देना चाहिए। कलेक्टर...

Stay Connected

5,577FansLike
13,774,980FollowersFollow
126,000SubscribersSubscribe
- Advertisement -

Latest Articles

खरगोन में मॉब लॉन्चिंग का वीडियो वायरल, अंडरवियर उतार के देखा युवक धर्म विशेष का तो नहीं

खरगोन: मध्यप्रदेश के खरगोन जिले के औद्योगिक क्षेत्र में निमरानी में मॉब लॉन्चिंग का मामला सामने आया है। चार दिन पूर्व एक फैक्ट्री के...

संजय राउत की पत्नी पहुंचीं ED दफ्तर, आमने-सामने बैठाकर हो सकती है पूछताछ

मुंबई : पात्रा चॉल घोटाले में आरोपों का सामना कर रहे शिवसेना सांसद संजय राउत की पत्नी वर्षा राउत प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के दफ्तर...

MP के वन मंत्री का बयान: ‘किशोर कुमार अवार्ड’ के लिए फिल्मी सितारों को आना होगा खंडवा, मुंबई नहीं पहुंचाएगी शिवराज सरकार

खंडवा: मध्यप्रदेश के खंडवा में वन मंत्री ने प्रदेश सरकार द्वारा दिए जानेवाले राष्ट्रीय किशोर कुमार अलंकरण सम्मान को लेकर बड़ा बयान दिया है।...

खंडवा के गौरव दिवस के आयोजन में बजा “लड़की आंख मारे” हिन्दू संगठन और ABVP ने जताया विरोध, महिला अधिकारियों पर कार्यवाही की मांग

खंडवा : मध्यप्रदेश में शिवराज सरकार निर्णय लिया है कि वह हर शहर का गौरव दिवस बनाएगी। 4 अगस्त को किशोर कुमार के जन्मदिन...

खंडवा के दंपत्ति ने खरगोन से डेढ़ साल के मासूम का किया अपहरण, पुलिस ने दबोचा

खरगोन : मध्यप्रदेश में खरगोन के निजी शारदा हॉस्पिटल परिसर से दिनदहाड़े डेढ़ साल के मासूम की घटना सामने आई हैं। गनीमत रही समय...