मोदी जी, पूंजीपतियों का साथ छोड़कर, अन्नादाताओं का साथ दीजिए – राहुल गांधी

राहुल गांधी कृषि कानूनों को निरस्त करने की किसानों की मांग का समर्थन करते हुए पहले भी कई बार सरकार पर हमला बोल चुके हैं। कृषि कानूनों को लेकर सरकार और किसानों के बीच गतिरोध बना हुआ है।


केंद्र के तीन नए कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों का आंदोलन रविवार को 46वें दिन में प्रवेश कर गया। दिल्ली की सीमाओं पर डटे किसान सरकार से कानूनों को वापस लेने की मांग कर रहे हैं।

इस बीच, कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने रविवार को मोदी सरकार पर एक बार फिर निशाना साधा। राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से अन्नदाताओं का साथ देने और पूंजीपतियों का साथ छोड़ने को कहा है।

राहुल गांधी ने संसद ने अपने भाषण का एक पुराना वीडियो शेयर किया करते हुए ट्वीट किया है। उन्होंने लिखा, “अब भी वक्त है मोदी जी, पूंजीपतियों का साथ छोड़कर, अन्नादाताओं का साथ दीजिए।”

पुराने वीडियो में राहुल गांधी ने कहा, “हिंदुस्तान के किसानों की जमीन की कीमत तेजी से बढ़ रही है और आपके जो कॉरपोरेट दोस्त हैं वो उस जमीन को चाहते हैं। और आप क्या रहे हो, एक तरफ से किसान और मजदूर को कमजोर कर रहे हो। जब किसान कमजोर होगा, खड़ा नहीं होगा अपने पैरों पर, तब आप उन पर अपने ऑर्डिनेंस की कुल्हाड़ी मारोगे।”

राहुल गांधी कृषि कानूनों को निरस्त करने की किसानों की मांग का समर्थन करते हुए पहले भी कई बार सरकार पर हमला बोल चुके हैं। कृषि कानूनों को लेकर सरकार और किसानों के बीच गतिरोध बना हुआ है।

हाल में हुई आठवें दौर की बातचीत भी बेनतीजा निकली। किसान संगठन कृषि कानूनों को वापस लेने से कम पर मानने को तैयार नहीं है। किसानों के साथ अगले दौर की बैठक 15 जनवरी को होगी।