Article 370: राम माधव ने बताया, कश्मीर में अभी 250 लोग नजरबंद

नई दिल्ली: महाराष्ट्र के औरंगाबाद में आयोजित एक कार्यक्रम में बोलते हुए बीजेपी महासचिव राम माधव ने कहा कि जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाए जाने के बाद राज्य में कानून-व्यवस्था की स्थिति खराब होने का डर था, इसलिए वहां कई लोगों को नजरबंद रखा गया है। उन्होंने कहा कि ये नजरंबद किए गए लोगों की संख्या बहुत कम है, राज्य में केवल 200 से 250 लोगों को ही नजरबंद किया गया है।

उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर में लगभग 2,000 से 2,500 लोग प्रिवेंटिव डिटेंशन में थे, लेकिन अब केवल 200 से 250 लोग ही प्रिवेंटिव डिटेंशन में हैं। राम माधव ने कहा कि कश्मीर में जिन लोगों को नजरबंद किया गया है उन्हें बेहद सम्मानजनक रूप से रखा गया है। बहुत से लोग 5-स्टार होटलों और गेस्टहाउस में हैं, जहां उनकी सुविधाओं का ख्याल रहा जा रहा है। बीजेपी महासचिव ने कहा कि पिछले दो महीनों से शांति का माहौल है। इसे देखकर आप समझ सकते हैं कि कश्मीर की आम जनता क्या चाहती है और नजरबंद किए गए ये 200-250 लोग क्या चाहते हैं।

जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाए जाने के बाद से वहां अतिरिक्त सुरक्षाबलों की तैनाती की गई है। 5 अगस्त से ही राज्य के कई नेताओं को नजरबंद कर लिया गया है, जिनमें पूर्व सीएम महबूबा मुफ्ती, उमर अब्दुल्ला और एनसी के वरिष्ठ नेता फारुक अब्दुल्ला भी शामिल हैं। वहीं, आर्टिकल 370 हटाने और नेताओं को नजरबंद किए जाने को लेकर विपक्षी दल लगातार केंद्र सरकार पर निशाना साध रहे हैं। विपक्षी दलों की मांग हैं कि घाटी से सुरक्षाबलों को हटाया जाए और नजरबंद किए गए नेताओं को रिहा किया जाए।

वहीं, इस सख्ती के बीच जम्मू कश्मीर में ब्लॉक डेवलेपमेंट चुनाव की तारीखों का ऐलान कर दिया गया है। जम्मू-कश्मीर में 316 में से 310 ब्लॉक्स पर मतदान 24 अक्टूबर को होगा। प्रदेश में सभी ब्लॉक पर मतदान सुबह 9 बजे शुरू होंगे और दोपहर एक बजे तक लोग मतदान कर सकेंगे। इसके बाद वोटों की गिनती दोपहर 3 बजे से शुरू होगी और 24 अक्टूबर को ही नतीजों की घोषणा कर दी जाएगी।