26.1 C
Indore
Saturday, August 20, 2022

बवाल: CBSE एग्जाम में महिलाओं को लेकर पूछे गए सवाल पर प्रियंका गांधी ने पूछा- हम बच्चों को ये पढ़ा रहे हैं?

नई दिल्लीः “आज लोग जिस चीज को कम समझ पा रहे हैं वह यह है कि पत्नी की मुक्ति ने बच्चों पर माता-पिता के अधिकार को नष्ट कर दिया। मां ने उस आज्ञाकारिता का उदाहरण नहीं दिया, जिस पर वह अब भी जोर देने की कोशिश कर रही हैं …। अनुशासन के माध्यम से आदमी को उसके आसन से नीचे लाने में पत्नी और मां ने खुद को वंचित कर दिया।”

शनिवार को हुई सीबीएसई बोर्ड की 10वीं कक्षा की बोर्ड परीक्षा के अंग्रेजी के पेपर में एक कॉम्प्रिहेंशन पैसेज का यह अंतिम पैराग्राफ में लिखा था, जिसने महिलाओं के लिए “पीछे जाने” और आक्रामक होने के लिए आलोचना की गई है। सीबीएसई बोर्ड के अनुसार, यह पैसेज उसके अंग्रेजी प्रश्न पत्रों के एक सेट में था। इसको लेकर हंगामा मच गया। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने इस पेपर को ट्वीट करके पूछा कि “हम बच्चों को ये पढ़ा रहे हैं?”

पैसेज सेक्शन ए या रीडिंग सेक्शन में था। पैसेज पर आधारित प्रश्नों में से एक यह है कि क्या लेखक “एक पुरुषवादी मानसिकता/एक अभिमानी व्यक्ति प्रतीत होता है?; ” जीवन के प्रति हल्का-फुल्का दृष्टिकोण”; “एक असंतुष्ट पति है”; या “उसके दिल में उसके परिवार का हित है।” बोर्ड की उत्तर कुंजी के मुताबिक, इसका सही जवाब “जीवन के प्रति हल्का-फुल्का दृष्टिकोण रखा है”।

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने ट्विटर पर और इसके इमेज को रीट्वीट करते हुए लिखा: “अविश्वसनीय! क्या हम वाकई बच्चों को यह वाहियात चीजें सिखा रहे हैं? साफ तौर पर भाजपा सरकार महिलाओं पर इन प्रतिगामी विचारों का समर्थन करती है, अन्यथा ऐसी चीजें सीबीएसई पाठ्यक्रम में क्यों शामिल होंगी।

रविवार की देर रात, सीबीएसई पीआरओ रमा शर्मा ने एक बयान जारी किया: “मामले को बोर्ड की पूर्व-निर्धारित प्रक्रियाओं के तहत विचार के लिए विषय विशेषज्ञों के पास भेजा जाएगा। बोर्ड द्वारा जारी सही उत्तर विकल्प और उत्तर कुंजी के संबंध में, यदि विशेषज्ञों का लगता है कि इसकी कई व्याख्याएं हो सकती हैं, तो छात्रों के हितों की रक्षा के लिए उचित फैसला लिया जाएगा।”

प्रश्नपत्र की शुरुआती लाइन में लिखा है “कुछ किशोर अपनी दुनिया में व्यस्त रहते हैं।” यह बताता है: “वजह कई हो सकते हैं, लेकिन सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि घर में माता-पिता के अधिकारों में कमी आई है। यह एक सदी से भी अधिक पहले से चली आ रही परंपरा है कि पुरुष अपने घर का स्वामी होता है। पत्नी ने उसे औपचारिक रूप से आज्ञाकारिता दी। यह महसूस करते हुए कि इस पर उसका अधिकार निर्भर करता है। बदले में, बच्चों पर…।”

Related Articles

मधयपदेश में गाय पर राजनीति लेकिन गोशालाओं पर नहीं है सरकार का ध्यान, संचालकों ने चेताया

खंडवा : मध्यप्रदेश में सरकारें गाय को लेकर सियासत करती रही हैं। चाहें वह भाजपा की शिवराज सरकार हो या कांग्रेस की कमलनाथ सरकार...

दर्द से तड़प रही थी पत्नी, कंधे पर लादकर अस्पताल ले गया पति, वीडियो हुआ वायरल

डिंडौरी : मध्यप्रदेश के डिंडौरी जिले में बीमार पत्नी को कंधे पर लादकर अस्पताल ले जाते लाचार पति का वीडियो सोशल मीडिया में वायरल...

दो कृष्ण अष्टमी तिथियां क्यों हैं? जानें स्मार्त व वैष्णव जन्माष्टमी में अंतर

कृष्ण जन्माष्टमी भगवान कृष्ण के जन्म का उत्सव मनाने के लिए सबसे शुभ और महत्वपूर्ण त्योहारों में से एक माना जाता है। यह हिंदुओं...

महिला उत्तेजक कपड़े पहने थी तो नहीं मानी जाएगी यौन उत्पीड़न की शिकायत : केरल हाईकोर्ट

कोझिकोड। केरल की एक अदालत ने यौन उत्पीड़न के एक मामले में लेखक और सामाजिक कार्यकर्ता सिविक चंद्रन को अग्रिम जमानत देते हुए कहा कि...

टीचर ने किया बीए की छात्रा से रेप, परीक्षा दिलाने ले गया था, पीड़िता नदी में कूदी

करौली : राजस्थान में एक बार फिर शर्मसार कर देने वाली वारदात सामने आई है। करौली जिले के हिंडौन सिटी इलाके में 20 साल...

जदयू ने खेला नया दांव, राज्यसभा के उपसभापति पद से इस्तीफा नहीं देंगे हरिवंश

पटना : बिहार में बदली सियासी बयार का असर राज्यसभा तक पहुंच गया है। जदयू के एनडीए से अलग होने के बाद कयास लगाए...

खरगोन में मॉब लॉन्चिंग का वीडियो वायरल, अंडरवियर उतार के देखा युवक धर्म विशेष का तो नहीं

खरगोन: मध्यप्रदेश के खरगोन जिले के औद्योगिक क्षेत्र में निमरानी में मॉब लॉन्चिंग का मामला सामने आया है। चार दिन पूर्व एक फैक्ट्री के...

संजय राउत की पत्नी पहुंचीं ED दफ्तर, आमने-सामने बैठाकर हो सकती है पूछताछ

मुंबई : पात्रा चॉल घोटाले में आरोपों का सामना कर रहे शिवसेना सांसद संजय राउत की पत्नी वर्षा राउत प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के दफ्तर...

MP के वन मंत्री का बयान: ‘किशोर कुमार अवार्ड’ के लिए फिल्मी सितारों को आना होगा खंडवा, मुंबई नहीं पहुंचाएगी शिवराज सरकार

खंडवा: मध्यप्रदेश के खंडवा में वन मंत्री ने प्रदेश सरकार द्वारा दिए जानेवाले राष्ट्रीय किशोर कुमार अलंकरण सम्मान को लेकर बड़ा बयान दिया है।...

Stay Connected

5,577FansLike
13,774,980FollowersFollow
127,000SubscribersSubscribe
- Advertisement -

Latest Articles

मधयपदेश में गाय पर राजनीति लेकिन गोशालाओं पर नहीं है सरकार का ध्यान, संचालकों ने चेताया

खंडवा : मध्यप्रदेश में सरकारें गाय को लेकर सियासत करती रही हैं। चाहें वह भाजपा की शिवराज सरकार हो या कांग्रेस की कमलनाथ सरकार...

दर्द से तड़प रही थी पत्नी, कंधे पर लादकर अस्पताल ले गया पति, वीडियो हुआ वायरल

डिंडौरी : मध्यप्रदेश के डिंडौरी जिले में बीमार पत्नी को कंधे पर लादकर अस्पताल ले जाते लाचार पति का वीडियो सोशल मीडिया में वायरल...

दो कृष्ण अष्टमी तिथियां क्यों हैं? जानें स्मार्त व वैष्णव जन्माष्टमी में अंतर

कृष्ण जन्माष्टमी भगवान कृष्ण के जन्म का उत्सव मनाने के लिए सबसे शुभ और महत्वपूर्ण त्योहारों में से एक माना जाता है। यह हिंदुओं...

महिला उत्तेजक कपड़े पहने थी तो नहीं मानी जाएगी यौन उत्पीड़न की शिकायत : केरल हाईकोर्ट

कोझिकोड। केरल की एक अदालत ने यौन उत्पीड़न के एक मामले में लेखक और सामाजिक कार्यकर्ता सिविक चंद्रन को अग्रिम जमानत देते हुए कहा कि...

टीचर ने किया बीए की छात्रा से रेप, परीक्षा दिलाने ले गया था, पीड़िता नदी में कूदी

करौली : राजस्थान में एक बार फिर शर्मसार कर देने वाली वारदात सामने आई है। करौली जिले के हिंडौन सिटी इलाके में 20 साल...