भय और दहशत पैदा करने वालों पर होगी सख्त कार्रवाई: सीएम योगी   

लखनऊ : उत्तर प्रदेश के चर्चित कमलेश तिवारी हत्याकांड को लेकर यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने सख्त रूप दिखाया है। उन्होंने कहा है कि इस तरह की घटनाएं अस्वीकार्य हैं। उन्होंने कहा कि एसआईटी को इस केस की जांच सौंपी गई है। साथ ही कहा कि इसमें शामिल लोगों को छोड़ा नहीं जाएगा। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, 20 अक्टूबर को सीएम योगी कमलेश तिवारी के परिजनों से मुलाकत करेंगे।

सीएम ने आगे कहा, ‘मैं भी इस केस के बारे में पूरा अपडेट लूंगा। इस तरह की घटनाओं को बर्दाश्त नहीं किया जा सकता। इस मामले में दोषियों को छोड़ा नहीं जाएगा।’ इस दौरान सीएम योगी ने तल्ख तेवर दिखते हुए कहा कि, “भय और दहशत पैदा करने वाले जो भी तत्व होंगे, सख्ती के साथ उनके मंसूबों को कुचलकर रख देंगे। इस प्रकार के किसी भी वारदात को कतई स्वीकार नहीं किया जाएगा। जो भी इस घटना में सम्मिलित होगा, उसे बख्शा नहीं जाएगा।’

योगी ने कहा कि, यह दहशत पैदा करने की शरारत है। इसमें कुछ लोगों को हिरासत में लिया गया है। तीन लोगों को गुजरात में और दो लोगों को उत्तर प्रदेश में हिरासत में लिया गया है। शेष अन्य लोगों के खिलाफ प्रभावी कार्रवाई करने की तैयारी चल रही है। लगातार दबिशें दी जा रही हैं। इस हत्याकांड की जांच स्पेशल इन्वेस्टीगेशन टीम (एसआईटी) को दे दी गई है।

कमलेश तिवारी के बेटे सत्यम तिवारी ने हत्याकांड की जांच एनआईए से कराने की मांग की है। सत्यम ने कहा कि हमें किसी और पर भरोसा नहीं है, मेरे पिता को सुरक्षा गार्ड दिए गए थे फिर भी उनकी हत्या कर दी गई फिर हम इस प्रशासन पर कैसे भरोसा कर सकते हैं।