21.5 C
Indore
Friday, August 19, 2022

‘फटी जींस’ के बाद सीएम तीरथ का एक और बयान, बोले- दो बच्चे पैदा किए इसलिए कम राशन मिला

नैनीताल: हाल ही में फटी जींस पर विवादित बयान के बाद से सुर्खियों में आए उत्तराखंड के सीएम तीरथ सिंह रावत का एक और बयान सामने आया है। अब उन्होंने लॉकडाउन के दौरान सरकार द्वारा बांटे गए अनाज को लेकर बयान दिया है।

रविवार को रामनगर पहुंचे सीएम ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि ‘लोगों में सरकार द्वारा बांटे गए चावल को लेकर जलन भी होने लगी कि दो सदस्यों वालों को 10 किलो जबकि 20 सदस्य वालों को एक क्विंटल अनाज क्यों दिया गया ? उन्होंने कहा की  ‘भैया इसमें दोष किसका है, उसने 20 पैदा किए, आपने दो किए, तो उसको एक क्विंटल मिल रहा है, इसमें जलन काहे का। ‘

मुख्यमंत्री ने बाल अधिकार संरक्षण आयोग द्वारा बच्चों में बढ़ती नशे की प्रवृति विषय पर आयोजित कार्यशाला में विवादित टिप्पणी की थी। उन्होंने कहा कि जब वह युवाओं को फटी जींस पहनकर घूमते देखते हैं तो उन्हें आश्चर्य होता है। उन्होंने एक संस्मरण का जिक्र करते हुए कहा कि वह जयपुर से दिल्ली की फ्लाइट पर बैठे हुए थे। उनके बगल में एक महिला बैठी हुई थी। महिला एक एनजीओ चलाती थीं, जबकि उसके पति एक कॉलेज में प्रोफेसर थे। उस महिला ने पांव में गमबूट और घुटनों में फटी जींस पहनी हुई थी। महिला के साथ उसके दो बच्चे भी थे। मुख्यमंत्री ने कहा कि, एनजीओ चलाती हैं, पति जेएनयू में प्रोफेसर हैं, घुटने फटे दिख रहे हैं, समाज के बीच में जाती हैं, बच्चे साथ में है। क्या संस्कार दे रही हैं।

फटी जींस के बयान को लेकर जब सीएम तीरथ की सोशल मीडिया पर खूब आलोचना हुई तो उन्होंने इस पर क्षमा भी मांगी। उन्होंने कहा था कि वह बच्चों का कार्यक्रम था। मैंने एक पिता व एक अभिभावक होने के नाते उन्हें संस्कारों के बारे में जानकारी दी। मेरा जींस से कोई विरोध नहीं। मैंने फटी जींस का विरोध किया। फिर भी यदि किसी को मेरे कथन से ठेस पहुंची हो तो इसके लिए क्षमा चाहता हूं।

बता दें कि मुख्यमंत्री के बयान को लेकर प्रदेश की सियासत से लेकर संसद तक में खासा उबाल रहा। अमर उजाला ने मुख्यमंत्री से इस बारे में बात की। उन्होंने कहा कि मेरा मकसद किसी की भावना को ठेस पहुंचाना नहीं था। मैं खुद एक सामान्य ग्रामीण परिवेश से आया हूं। जब हम स्कूल जाते थे तो कई बार पैंट फट जाती थी। हमें लगता था कि स्कूल कैसे जाएंगे। कहीं गुरुजी डांटेंगे तो नहीं। यह एक अनुशासन और संस्कार था।

फिर हम फटी पैंट पर पैच लगाकर स्कूल जाते थे। मुख्यमंत्री ने कहा कि जिस कार्यक्रम में मैंने यह बातें कहीं, वह बच्चों को लेकर ही आयोजित किया गया था। आज बच्चे नशे जैसी बुरी विकृतियों का शिकार हो रहे हैं। मैंने एक पिता, एक अभिभावक होने के नाते घर पर बच्चों को संस्कार देने की बात कही। बच्चा ज्यादा समय परिवार में ही रहता है। परिवार से ही उसे संस्कार मिलते हैं।

Related Articles

मधयपदेश में गाय पर राजनीति लेकिन गोशालाओं पर नहीं है सरकार का ध्यान, संचालकों ने चेताया

खंडवा : मध्यप्रदेश में सरकारें गाय को लेकर सियासत करती रही हैं। चाहें वह भाजपा की शिवराज सरकार हो या कांग्रेस की कमलनाथ सरकार...

दर्द से तड़प रही थी पत्नी, कंधे पर लादकर अस्पताल ले गया पति, वीडियो हुआ वायरल

डिंडौरी : मध्यप्रदेश के डिंडौरी जिले में बीमार पत्नी को कंधे पर लादकर अस्पताल ले जाते लाचार पति का वीडियो सोशल मीडिया में वायरल...

दो कृष्ण अष्टमी तिथियां क्यों हैं? जानें स्मार्त व वैष्णव जन्माष्टमी में अंतर

कृष्ण जन्माष्टमी भगवान कृष्ण के जन्म का उत्सव मनाने के लिए सबसे शुभ और महत्वपूर्ण त्योहारों में से एक माना जाता है। यह हिंदुओं...

महिला उत्तेजक कपड़े पहने थी तो नहीं मानी जाएगी यौन उत्पीड़न की शिकायत : केरल हाईकोर्ट

कोझिकोड। केरल की एक अदालत ने यौन उत्पीड़न के एक मामले में लेखक और सामाजिक कार्यकर्ता सिविक चंद्रन को अग्रिम जमानत देते हुए कहा कि...

टीचर ने किया बीए की छात्रा से रेप, परीक्षा दिलाने ले गया था, पीड़िता नदी में कूदी

करौली : राजस्थान में एक बार फिर शर्मसार कर देने वाली वारदात सामने आई है। करौली जिले के हिंडौन सिटी इलाके में 20 साल...

जदयू ने खेला नया दांव, राज्यसभा के उपसभापति पद से इस्तीफा नहीं देंगे हरिवंश

पटना : बिहार में बदली सियासी बयार का असर राज्यसभा तक पहुंच गया है। जदयू के एनडीए से अलग होने के बाद कयास लगाए...

खरगोन में मॉब लॉन्चिंग का वीडियो वायरल, अंडरवियर उतार के देखा युवक धर्म विशेष का तो नहीं

खरगोन: मध्यप्रदेश के खरगोन जिले के औद्योगिक क्षेत्र में निमरानी में मॉब लॉन्चिंग का मामला सामने आया है। चार दिन पूर्व एक फैक्ट्री के...

संजय राउत की पत्नी पहुंचीं ED दफ्तर, आमने-सामने बैठाकर हो सकती है पूछताछ

मुंबई : पात्रा चॉल घोटाले में आरोपों का सामना कर रहे शिवसेना सांसद संजय राउत की पत्नी वर्षा राउत प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के दफ्तर...

MP के वन मंत्री का बयान: ‘किशोर कुमार अवार्ड’ के लिए फिल्मी सितारों को आना होगा खंडवा, मुंबई नहीं पहुंचाएगी शिवराज सरकार

खंडवा: मध्यप्रदेश के खंडवा में वन मंत्री ने प्रदेश सरकार द्वारा दिए जानेवाले राष्ट्रीय किशोर कुमार अलंकरण सम्मान को लेकर बड़ा बयान दिया है।...

Stay Connected

5,577FansLike
13,774,980FollowersFollow
127,000SubscribersSubscribe
- Advertisement -

Latest Articles

मधयपदेश में गाय पर राजनीति लेकिन गोशालाओं पर नहीं है सरकार का ध्यान, संचालकों ने चेताया

खंडवा : मध्यप्रदेश में सरकारें गाय को लेकर सियासत करती रही हैं। चाहें वह भाजपा की शिवराज सरकार हो या कांग्रेस की कमलनाथ सरकार...

दर्द से तड़प रही थी पत्नी, कंधे पर लादकर अस्पताल ले गया पति, वीडियो हुआ वायरल

डिंडौरी : मध्यप्रदेश के डिंडौरी जिले में बीमार पत्नी को कंधे पर लादकर अस्पताल ले जाते लाचार पति का वीडियो सोशल मीडिया में वायरल...

दो कृष्ण अष्टमी तिथियां क्यों हैं? जानें स्मार्त व वैष्णव जन्माष्टमी में अंतर

कृष्ण जन्माष्टमी भगवान कृष्ण के जन्म का उत्सव मनाने के लिए सबसे शुभ और महत्वपूर्ण त्योहारों में से एक माना जाता है। यह हिंदुओं...

महिला उत्तेजक कपड़े पहने थी तो नहीं मानी जाएगी यौन उत्पीड़न की शिकायत : केरल हाईकोर्ट

कोझिकोड। केरल की एक अदालत ने यौन उत्पीड़न के एक मामले में लेखक और सामाजिक कार्यकर्ता सिविक चंद्रन को अग्रिम जमानत देते हुए कहा कि...

टीचर ने किया बीए की छात्रा से रेप, परीक्षा दिलाने ले गया था, पीड़िता नदी में कूदी

करौली : राजस्थान में एक बार फिर शर्मसार कर देने वाली वारदात सामने आई है। करौली जिले के हिंडौन सिटी इलाके में 20 साल...