27.1 C
Indore
Sunday, June 26, 2022

जेएनयू हिंसा में नौ छात्रों की पहचान हुई, आइशी घोष बोली दिल्ली पुलिस कर रही पक्षपात

दिल्ली पुलिस ने एक प्रेस कांन्फ्रेंस की और कहा कि जेएनयू हिंसा मामले की जांए क्राइम ब्रांच कर रही है। दिल्ली पुलिस ने कहा कि इस संदर्भ में कई गलत जानकारियां शेयर की जा रही है। जांच को लेकर गलत सूचनाएं, जानकारियां फैलाई जा रहीं हैं। इसमें एक प्रसिद्ध विश्वविद्यालय जेएनयू और छात्रों का भविष्य जुड़ा है इसलिए मीडिया भी इसे बहुत ही सावधानी से रखे।

इस बारे में दिल्ली पुलिस ने कहा कि अब तक जो भी जांच हुई है उस बारे में आपको जानकारी दी जा रही है। यह सभी संवेदनशील सूचनाएं हैं जो आपको दी जा रहीं हैं।उन्होंने कहा है कि इस मामले में कुल तीन एफआईआर दर्ज की गई है।
पहला केस सर्वर रूम को नुकसान पहुंचाने का, दूसरा केस रजिस्ट्रेशन करवाने वाले छात्रों के साथ मारपीट करने का और तीसरा केस हॉस्टल में घुसकर हमला करने का है।

हिंसा में शामिल नौ छात्रों की पहचान हुई है। जिसमें जेएनयू छात्र संघ अध्यक्ष आइशी घोष के अलावा डोलन, सुचेता तालुकदार, योगेंद्र भारद्वाज, विकास पटेल, चुनचुन कुमार, पंकज मिश्रा, भास्कर, सुशील कुमार और प्रिय रंजन के नाम भी शामिल हैं। क्राइम ब्रांच के डीसीपी जॉय टिर्की ने बताया कि जेएनयू में एक से पांच जनवरी के बीच में रजिस्ट्रेशन करने की तारीख रखी गई थी। लेकिन कुछ विद्यार्थी अन्य विद्यार्थियों को रजिस्ट्रेशन नहीं करने दे रहे थे। रजिस्ट्रेशन करने वालों को डराया, धमकाया जा रहा था।

तीन जनवरी को छात्र संगठन ने सर्वर रूम बंद कर दिया था। चार जनवरी को कुछ छात्रों द्वारा सर्वर को नष्ट कर दिया गया था। चार जनवरी को छात्र संगठन के छात्रों द्वारा धक्कामुक्की की। एसएफआई, एएसआईए, एआईएसएफ, डीएसएफ के छात्रों ने हमला किया। पांच जनवरी को पेरियार और साबरमती हास्टल के खास कमरों में हमला किया गया।


दिल्ली पुलिस ने बताया कि सबरमती होस्टल के बाहर पीस मीटिंग हो रही थी कि आचनक से एक ग्रुप आया और उनके मुंह पर मफलर थे। उन्होंने सबरमती होस्टल में घुसकर कमरों में तोड़फोड़ की और छात्रों के साथ मारपीट भी की। डीसीपी ने कहा कि तोड़फोड़ करने वालों को पता था कि कहां जाना है और किस कमरे को निशाना बनाना है। उन्होंने कहा कि बाहर का कोई शख्स इतनी आसानी से इतनी तोड़फोड़ नहीं कर सकता। हम इसकी पहचान कर रहे हैं जो सबसे महत्वपूर्ण सवाल है कि हमलावरों की पहचान की कैसे की गई है। हमले जो वायरल वीडियो थे और हमले वॉटसैप ग्रुप से हमें मदद मिली है।

आइशी घोष ने कहा- दिल्ली पुलिस अपनी जांच कर सकती है। मेरे पास भी सबूत हैं, जिनसे जाहिर हो जाएगा कि मुझपर किस तरह हमला किया गया। मेरा देश के कानून और व्यवस्था में पूरा विश्वास है। मैं जानती हूं कि जांच निष्पक्ष होगी। मुझे न्याम मिलेगा, लेकिन दिल्ली पुलिस पक्षपात क्यों कर रही है? मेरी शिकायत पर एफआईआर दर्ज क्यों नहीं की गई। मैंने किसी पर कोई हमला नहीं किया।

Related Articles

द्रौपदी मुर्मू ने राष्ट्रपति पद के लिए नॉमिनेशन भरा, देश को मिल सकता है पहला आदिवासी प्रेजिडेंट

नई दिल्लीः झारखंड की पूर्व राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू ने आज NDA की ओर से राष्ट्रपति पद के लिए अपना नामांकन दाखिल कर दिया है।...

तो क्या बंद होने वाली हैं केंद्र सरकार की मुफ्त राशन वितरण वाली योजना ?

नई दिल्लीः उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनावों में भाजपा की जीत का एक बड़ा कारण राज्य में प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना (PMGKAY) के...

Maharashtra Political Crisis : मुंबई आकर बात करें तो छोड़ देंगे एमवीए : संजय राउत

मुंबई : महाराष्ट्र में महाविकास अघाड़ी सरकार पर गहराए राजनीतिक संकट के बीच शिवसेना नेता संजय राउत ने गुरुवार को बड़ा बयान दिया है।...

Maharashtra Political Crisis : शिवसेना की मीटिंग में पहुंचे 12 विधायक, एनसीपी ने बुलाई अहम बैठक

मुंबई : महाराष्ट्र के राजनीतिक संग्राम के बीच शिवसेना में बगावत बढ़ती जा रही है। बता दें कि शिवसेना के नेता एकनाथ शिंदे की...

खरगोन में जिला प्रशासन की बड़ी कार्रवाई, लाखों रुपये का तेल जप्त

खरगोन : मध्यप्रदेश के खरगोन में जिला प्रशासन की टीम ने कार्रवाई करते हुए एक व्यपारिक प्रतिष्ठान से लाखों रुपए कीमत का तेल जब्त...

सिर्फ नोटिस देकर चलाया गया जावेद के घर पर बुलडोजर, हाईकोर्ट के पूर्व चीफ जस्टिस बोले- यह पूरी तरह गैरकानूनी

लखनऊ : रविवार को उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने कथित तौर पर प्रयागराज हिंसा के मास्टरमाइंड मोहम्मद जावेद उर्फ जावेद पंप का घर...

43 घंटे से 11 वर्षीय बच्चे को बोरवेल से बाहर निकालने के लिए रेस्क्यू ऑपरेशन जारी

रायपुर : छत्तीसगढ़ के जांजगीर-चांपा जिले में बोरवेल में गिरे बच्चे को 43 घंटे बाद भी निकाला नहीं जा सका है। अधिकारियों का कहना...

भाजपा की नफरत की राजनीति के कारण देश का सिर झुक गया – सांसद संजय सिंह

सांसद संजय सिंह ने कहा कि भाजपा और उसके प्रवक्ता गलती करते हैं, क्योंकि नरेंद्र मोदी से उनको नफरत की ट्रेनिंग मिलती है और...

MP : ज्ञानवापी मस्जिद विवाद पर संघ प्रमुख के बयान पर गृह मंत्री ने कही ये बात

राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत ने वाराणसी के ज्ञानवापी मस्जिद विवाद पर कहा था कि भारत किसी एक पूजा और एक...

Stay Connected

5,577FansLike
13,774,980FollowersFollow
126,000SubscribersSubscribe
- Advertisement -

Latest Articles

द्रौपदी मुर्मू ने राष्ट्रपति पद के लिए नॉमिनेशन भरा, देश को मिल सकता है पहला आदिवासी प्रेजिडेंट

नई दिल्लीः झारखंड की पूर्व राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू ने आज NDA की ओर से राष्ट्रपति पद के लिए अपना नामांकन दाखिल कर दिया है।...

तो क्या बंद होने वाली हैं केंद्र सरकार की मुफ्त राशन वितरण वाली योजना ?

नई दिल्लीः उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनावों में भाजपा की जीत का एक बड़ा कारण राज्य में प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना (PMGKAY) के...

Maharashtra Political Crisis : मुंबई आकर बात करें तो छोड़ देंगे एमवीए : संजय राउत

मुंबई : महाराष्ट्र में महाविकास अघाड़ी सरकार पर गहराए राजनीतिक संकट के बीच शिवसेना नेता संजय राउत ने गुरुवार को बड़ा बयान दिया है।...

Maharashtra Political Crisis : शिवसेना की मीटिंग में पहुंचे 12 विधायक, एनसीपी ने बुलाई अहम बैठक

मुंबई : महाराष्ट्र के राजनीतिक संग्राम के बीच शिवसेना में बगावत बढ़ती जा रही है। बता दें कि शिवसेना के नेता एकनाथ शिंदे की...

खरगोन में जिला प्रशासन की बड़ी कार्रवाई, लाखों रुपये का तेल जप्त

खरगोन : मध्यप्रदेश के खरगोन में जिला प्रशासन की टीम ने कार्रवाई करते हुए एक व्यपारिक प्रतिष्ठान से लाखों रुपए कीमत का तेल जब्त...