लखनऊ : पूर्वांचल के दबंग माफिया मुख्तार अंसारी के बेटों की दो इमारतें ध्वस्त

विधायक मुख्तार अंसारी के अवैध कब्जे को खाली कराने के लिए पुलिस और प्रशासन की टीम डालीबाग स्थित अवैध कब्जे पर भारी पुलिस बल और जेसीबी के साथ पहुंची। इस दौरान गेट का ताला तोड़कर वहां बने निर्माण से सामान निकाल कर पुलिस ने कार्रवाई की।

लखनऊ: लखनऊ विकास प्राधिकरण (एलडीए) ने गुरुवार को पूर्वांचल के दबंग माफिया मुख्तार अंसारी के खिलाफ बड़ी कार्रवाई की है। आज सुबह लखनऊ के डालीबाग में बने मुख्तार अंसारी के बेटों की दो इमारतों को प्राधिकरण के आदेश पर जमींदोज किया गया है।

इसके लिए एलडीए और पुलिस प्रशासन समेत 250 से अधिक पुलिसकर्मी और 20 से अधिक जेसीबी लगी रहीं। मौके पर मुख्तार अंसारी के बेटे अब्बास व उमर अंसारी के टावर पर झड़प भी हो गई, जिसके बाद पुलिस ने उन्हें खदेड़ कर भगाया।

एलडीए ने सुबह बुलडोजर चलवाकर माफिया की इमारत को ध्वस्त किया। मालूम हो कि दोनों पर शत्रु संपत्ति पर कब्जा कर दो मंजिला इमारत बना ली थी। एलडीए संयुक्त सचिव ऋतु सुहास ने 11 अगस्त को शस्त्रीकरण आदेश जारी किया था।

विधायक मुख्तार अंसारी के अवैध कब्जे को खाली कराने के लिए पुलिस और प्रशासन की टीम डालीबाग स्थित अवैध कब्जे पर भारी पुलिस बल और जेसीबी के साथ पहुंची। इस दौरान गेट का ताला तोड़कर वहां बने निर्माण से सामान निकाल कर पुलिस ने कार्रवाई की।

मालूम हो कि एक ओर मुख्तार गैंग के सदस्यों पर पुलिस का शिकंजा कसता जा रहा है। वहीं योगी सरकार अब अंसारी की सहायता करने वाले तत्कालीन अधिकारियों पर भी कार्रवाई करने के मूड में है।

बताया जा रहा है कि अवैध संपत्ति निर्माण करने में जिन अधिकारियों ने मुख्तार अंसारी की मदद की थी, उनपर भी गाज गिर सकती है। पूर्वांचल ही नहीं बल्कि लखनऊ तक मुख्तार से जुड़े लोगों पर पुलिस ताबड़तोड़ कार्रवाई कर रही है। पुलिस गैंग के सदस्यों के शस्त्र लाइसेंस रद्द कर रही है।