16.9 C
Indore
Monday, December 6, 2021

मोबाइल तो बन जाएगा वॉलेट लेकिन ये हैं साइड इफेक्ट !

cash bankingनई दिल्ली- नोटबंदी के बाद अगर आप भी कैशलेस और डिजिटल बैंकिंग के लिए मोबाइल वॉलेट का इस्तेमाल कर रहे हैं तो जरा सावधानी बरतिए। पेटीएम और फ्रीचार्ज जैसे कई मोबाइल वॉलेट मार्केट में हैं और काफी दिलचस्प ऑफर के साथ आपको लुभा भी रहे हैं। लेकिन इनके इस्तेमाल के ये साइड इफेक्ट आपके लिए मुश्किल बन सकते हैं।

1. ऑनलाइन फ्रॉड का शिकार हो सकते हैं
सबसे बड़ा खतरा आईडेंटिटी चोरी होने का है। डिजिटल ट्रांजेक्शन से ज्यादातर लोग वाकिफ नहीं हैं। डिजिटल प्लेटफॉर्म पर ज्यादा लोगों के आने से ऑनलाइन फ्रॉड और डिजिटल हैकिंग का खतरा भी बढ़ सकता है। सरकार की ओर से 2000 रुपये तक के ऑनलाइन ट्रांजेक्शन के लिए टू-फैक्टर ऑथेंटिकेशन प्रॉसेस हटाने का फैसला भी मदद नहीं करेगा। ट्रांजेक्शन के सिक्योरिटी नियमों की पड़ताल में और खामिया मिलेंगी।

2. समस्या सुलझाने का कमजोर सिस्टम
ऑनलाइन ट्रांजेक्शन और अन्य किसी तरह की परेशानी होने पर समस्याओं के निदान की प्रक्रिया काफी धीमी है। अगर पेमेंट के समय किसी का पैसा अटक जाए तो उसके पास ऐसा कोई जरिया नहीं है जहां से वह इसे तुरंत पा सके। ऐसे किसी भी तरह के फ्रॉड से निपटने के लिए कोई कानूनी प्रक्रिया तय नहीं है। गौर करने की बात ये है कि इसके जरिए बैंकिंग सिस्टम और कंपनियों को हैक किया जा सकता है। डाटा बेस चोरी हो सकता है। इसका एक उदाहरण इस साल अक्टूबर में देखा जा चुका है। जब एसबीआई के लाखों ग्राहकों के अकाउंट में सेंध लगी।

3. अगर फोन जाए तब क्या?
आपका मोबाइल फोन ही आपका बटुआ और बैंक भी है। यानी अगर मोबाइल खो जाता है दो आपको दोहरी चपत लगेगी। अगर मोबाइल के सिक्योरिटी फीचर एडवांस और एक्टिव नहीं हैं तो आपका न सिर्फ सारा डाटा चोरी हो सकता है बल्कि वॉलेट में रखा पैसा भी फोन के साथ जाएगा। इसके अलावा एक समस्या यह भी है कि अगर आप विदेश जा रहे हैं या छोटे कस्बों और गांवों में जा रहे हैं तो वहां भी परेशानी झेलनी पड़ेगी क्योंकि वहां भुगतान के ज्यादा विकल्प नहीं मिलेंगे। सबसे बड़ी मुश्किल ये है कि अगर आपका फोन ऑफ हुआ तो आप बिना पैसों के हो जाएंगे खासकर तब जब आप किसी खरीदारी के बीच में हों या इमरजेंसी के वक्त।

4. तकनीकी की कम समझ रखने वालों के लिए मुश्किल
देश में कुल आबादी का 34.8 फीसदी हिस्सा इंटरनेट इस्तेमाल करता है। कुल 26.3 फीसदी मोबाइल यूजर स्मार्टफोन का इस्तेमाल करते हैं। डिजिटल पेमेंट को अपना बहुत से लोगों के लिए अचानक तीन पीढ़ी आगे कूदना होगा। जो कि उनके लिए आसान नहीं है। तकनीकी से जो लोग वाकिफ नहीं हैं, जो सही ढंग से स्मार्टफोन नहीं इस्तेमाल कर पाते उनके लिए यह मुश्किल बड़ी है। ऐसे लोगों को नए सिस्टम और तकनीक को अपनाने में काफी वक्त लगेगा।

5. ज्यादा खर्च हो जाने की भी संभावना
जेब में पैसे होते हैं तो कोई भी व्यक्ति सोच समझ कर खर्च करता है। जरूरत के हिसाब से कुछ पैसे बचाएगा और कुछ खर्च करेगा। लेकिन डिजिटल बैंकिंग सिस्टम में उसे इस बात का अंदाजा भी नहीं होगा कि कब वह लिमिट से ज्यादा पैसे खर्च कर बैठा। ऐसा व्यावहारिक फाइनांस थ्योरी पर काम करने वाले लोग भी मानते हैं। डिजिटल बैंकिंग में मनी कंट्रोल आसान नहीं है जबकि कैश पेमेंट में हर व्यक्ति बटुआ संभालता है। ई-पेमेंट की वजह से ज्यादा खर्च होगा और इसका असर पूरे बजट पर पड़ेगा। [एजेंसी]




Related Articles

वरूण गांधी ने कहा- ये बेरोजगार युवा भी भारत मां के बेटे, बात मानना तो दूर, कोई इनकी बात सुनने तक को तैयार नहीं

लखनऊ : पांच चुनावी राज्यों में बेरोजगारी का मुद्दा भाजपा के गले की फांस बन सकता है। त्योहारी सीजन बीतने के साथ ही बेरोजगारी...

संसद टीवी: राज्यसभा से निलंबन के बाद नाराज प्रियंका चतुर्वेदी ने छोड़ा चैनल

नई दिल्लीः शिवसेना सांसद प्रियंका चतुर्वेदी ने रविवार को संसद टीवी छोड़ दी। यह कदम उन्होंने राज्यसभा से निलंबन के विरोध में उठाया। चतुर्वेदी...

पंजाब: गुरदासपुर में मिले ग्रेनेड व टिफिन बम डिफ्यूज, पठानकोट हमले से जुड़ रहे तार

गुरदासपुर: गुरदासपुर में मिले टिफिन बम और ग्रेनेड बरामदगी के तार पिछले दिनों पठानकोट के आर्मी क्षेत्र त्रिवेणी द्वार के पास ग्रेनेड हमले से...

 गोवा में भी केजरीवाल का पंजाबी दांव: 18 साल से ऊपर की हर महिला को देंगे एक हजार रुपये

पणजी : दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने रविवार को गोवा में एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि यहां उनकी सरकार बनने...

UP : गजनी और गौरी जैसे रहे हैं पिछली सरकारों के शासन – भाजपा प्रदेश अध्यक्ष

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव ने कहा कि रामलला व बाबा विश्वनाथ के दरबार में पापों के लिए अखिलेश यादव को देश व प्रदेश...

American Report: अगले साल की शुरुआत में यूक्रेन पर हमला कर सकता है रूस!

यूक्रेन और रूस की सीमा पर तनाव लगातार बढ़ता जा रहा है। यूक्रेन ने शुक्रवार को दावा किया कि रूस ने सीमा पर 94...

सियासत : चन्नी ने साधा निशाना – कौन है केजरीवाल, कहां से आया, पंजाब पर कब्जा करना चाहता है

चंडीगढ़ : पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने शनिवार को दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल पर फिर निशाना साधा। एक निजी चैनल के...

केंद्र के पास किसानों की मौत का आंकड़ा नहीं, फिर PM मोदी माफी किससे मांग रहे? – राहुल गांधी

राहुल ने कहा, सरकार के लिए मुआवजा राशि कोई बड़ी रकम नहीं है। ये बिल्कुल कोरोना की तरह का मामला है जिसमें कई लोगों...

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बोले- डिजिटल बैंक आज वास्तविकता, फिनटेक को क्रांति में बदलने का समय

नई दिल्लीः प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को 'इन्फिनिटी फोरम' का उद्घाटन किया। इस अवसर पर उन्होंने संबोधित करते हुए कहा कि मुझे इस...

Stay Connected

5,577FansLike
13,774,980FollowersFollow
124,000SubscribersSubscribe
- Advertisement -

Latest Articles

वरूण गांधी ने कहा- ये बेरोजगार युवा भी भारत मां के बेटे, बात मानना तो दूर, कोई इनकी बात सुनने तक को तैयार नहीं

लखनऊ : पांच चुनावी राज्यों में बेरोजगारी का मुद्दा भाजपा के गले की फांस बन सकता है। त्योहारी सीजन बीतने के साथ ही बेरोजगारी...

संसद टीवी: राज्यसभा से निलंबन के बाद नाराज प्रियंका चतुर्वेदी ने छोड़ा चैनल

नई दिल्लीः शिवसेना सांसद प्रियंका चतुर्वेदी ने रविवार को संसद टीवी छोड़ दी। यह कदम उन्होंने राज्यसभा से निलंबन के विरोध में उठाया। चतुर्वेदी...

पंजाब: गुरदासपुर में मिले ग्रेनेड व टिफिन बम डिफ्यूज, पठानकोट हमले से जुड़ रहे तार

गुरदासपुर: गुरदासपुर में मिले टिफिन बम और ग्रेनेड बरामदगी के तार पिछले दिनों पठानकोट के आर्मी क्षेत्र त्रिवेणी द्वार के पास ग्रेनेड हमले से...

 गोवा में भी केजरीवाल का पंजाबी दांव: 18 साल से ऊपर की हर महिला को देंगे एक हजार रुपये

पणजी : दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने रविवार को गोवा में एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि यहां उनकी सरकार बनने...

UP : गजनी और गौरी जैसे रहे हैं पिछली सरकारों के शासन – भाजपा प्रदेश अध्यक्ष

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव ने कहा कि रामलला व बाबा विश्वनाथ के दरबार में पापों के लिए अखिलेश यादव को देश व प्रदेश...