14.1 C
Indore
Tuesday, January 18, 2022

भगवान राम से किसी को बैर नहीं, मैं भी एक पत्थर लगाने जाऊंगा – अब्दुल्ला

नई दिल्ली : अयोध्या विवाद पर सीजेआई रंजन गोगोई ने तीन जजों की बेंच का गठन कर 10 जनवरी को सुनवाई का ऐलान किया।

इसके बाद पूरे मामले पर प्रतिक्रिया भी आने लगी हैं। इसमें सबसे ज्यादा चौंकाने वाला बयान नैशनल कॉन्फ्रेंस के नेता फारूक अब्दुल्ला की तरफ से आया है।

अब्दुल्ला ने कहा कि इस मामले पर चर्चा होनी चाहिए और इसका समाधान ढूंढा जाना चाहिए। उन्होंने कहा, ‘इस मामले को कोर्ट में ले जाने की क्या जरूरत है? मुझे पूरा भरोसा है कि बातचीत के जरिए इसे सुलझाया जा सकता है।’

अब्दुल्ला ने यह भी कहा कि भगवान राम सिर्फ हिंदुओं के नहीं हैं, वह पूरी दुनिया के हैं। उन्होंने कहा, ‘भगवान राम से किसी को बैर नहीं है और होना भी नहीं चाहिए। कोशिश करनी चाहिए मामले को सुलझाने की और बनाने की। जिस दिन यह हो जाएगा, मैं भी एक पत्थर लगाने जाऊंगा।’

इस दौरान अब्दुल्ला ने बीजेपी पर भी हमला किया। उन्होंने कहा कि बीजेपी ने पिछले पौने पांच साल में कुछ भी नहीं किया।

उन्होंने कहा, ‘मंदिर बनाने से बीजेपी का कोई सरोकार नहीं है। ये लोग सिर्फ कुर्सी पर बैठने के लिए मंदिर की बात उठाते हैं।’

वहीं इस मामले में एक पक्षकार इकबाल अंसारी ने कहा कि इस मामले का समाधान कोर्ट से ही होना चाहिए। अंसारी ने मंदिर मामले पर पीएम मोदी के बयान का समर्थन भी किया, जिसमें उन्होंने कानून प्रक्रिया पूरी होने का इंतजार करने को कहा था।

वहीं कांग्रेस के सीनियर नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा कि राम मंदिर पर सुप्रीम कोर्ट का जो भी फैसला होगा, वह मान्य होगा। वहीं केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा कि पीएम मोदी के बयान पर इस मामले पर किसी भी टिप्पणी की जरूरत नहीं रह जाती है।

बता दें कि राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद भूमि विवाद पर सुप्रीम कोर्ट में अब 10 जनवरी को अगली सुनवाई होगी। 10 जनवरी को मामला सुप्रीम कोर्ट की तीन जजों की स्पेशल बेंच के सामने जाएगा। 6 या 7 जनवरी को इस बेंच में शामिल जजों के नाम का ऐलान कर दिया जाएगा।

जस्टिस दीपक मिश्रा के रिटायर होने के बाद इस मामले में सुनवाई के लिए कोई विशेष पीठ नहीं थी। सीजेआई ने कहा कि इस मामले की सुनवाई के लिए एक रेग्युलर बेंच बनेगी, जो 10 जनवरी को इस मामले में आगे के आदेश परित करेगी।

इस दौरान सुप्रीम कोर्ट ने वकील हरिनाथ राम की तरफ से दाखिल की गई उस पीआईएल को भी खारिज कर दिया है, जिसमें अयोध्या विवाद की रोजाना सुनवाई की मांग की गई थी।

सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई के दौरान इस कदर भीड़ थी कि पैर रखने की भी जगह नहीं थी। सीजेआई के सामने जब मामला आया तो उन्होंने कुछ ही सेकंड में 10 जनवरी को सुनवाई की बात कही।

क्या है पूरा मामला

6 दिसंबर 1992 को अयोध्या में बाबरी मस्जिद को गिरा दिया गया था। इस मामले में आपराधिक केस के साथ-साथ दिवानी मुकदमा भी चला। टाइटल विवाद से संबंधित मामला सुप्रीम कोर्ट में पेंडिंग है।

30 सितंबर 2010 को इलाहाबाद हाई हाई कोर्ट ने दिए फैसले में कहा था कि तीन गुंबदों में बीच का हिस्सा हिंदुओं का होगा, जहां फिलहाल रामलला की मूर्ति है। निर्मोही अखाड़े को दूसरा हिस्सा दिया गया, इसी में सीता रसोई और राम चबूतरा शामिल हैं, बाकी एक तिहाई हिस्सा सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड को दिया गया। इस फैसले को तमाम पक्षकारों ने सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी।

9 मई 2011 को सुप्रीम कोर्ट ने इलाहाबाद हाई कोर्ट के फैसले पर रोक लगाते हुए यथास्थिति बहाल कर दिया था। इसके बाद पिछले साल मामले की सुनवाई शुरू हुई थी।

Related Articles

पुलिस महिलाओं और बच्चों से कैसे करें व्यवहार, परीक्षा आयोजित

खंडवा : पुलिस में भर्ती होने के लिए परीक्षा पास करते तो आप ने देखा होगा लेकिन पुलिस रहते हुए में अपने कर्तयव को...

नरेश टिकैत से मिलने पहुंचे केंद्रीय मंत्री संजीव बालियान

लखनऊ : उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में केंद्रीय पशुपालन मंत्री डॉक्टर संजीव बालियान ने सिसौली पहुंचकर भाकियू अध्यक्ष चौधरी नरेश टिकैत का हाल जाना।...

Goa Election 2022: ,केजरीवाल बोले- पीएम मोदी ने खुद हमें ईमानदारी का सर्टिफिकेट दिया है, गोवा में भी मुफ्त योजनाओं का किया वादा

नई दिल्लीः गोवा के लिए आम आदमी पार्टी ने बड़ा चुनावी वादा किया है। चुनाव प्रचार करने के लिए गोवा पहुंचे दिल्ली के मुख्यमंत्री...

अमेरिका: आतंकी की गिरफ्त से छुड़ाए गए सभी अमेरिकी नागरिक, 10 घंटे तक चला ऑपरेशन

टेक्सास : अमेरिका के टेक्सास में अमेरिकी नागरिकों को बंधक बनाए जाने के मामले में सुरक्षाबलों को बड़ी कामियाबी मिली है। राज्यपाल ग्रेस एबॉट...

Haryana: मंत्री विज ने दी जानकारी, बिना वैक्सीन लगवाए 15 से 18 वर्ष के बच्चों को स्कूल में नहीं मिलेगी एंट्री

हरियाणा : हरियाणा में 15 से 18 वर्ष आयु वर्ग के बच्चों के लिए बिना कोरोना रोधी टीका लगवाए स्कूलों में प्रवेश करने की...

Corona Effect: मध्य प्रदेश में 12 वीं तक के स्कूल 31 जनवरी तक बंद

भोपाल: कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए मध्य प्रदेश में अब पहली से बारहवीं कक्षा तक के सरकारी-निजी सीबीएससी-आइएससी सहित सभी स्कूलों...

निजी अस्पताल के बायोगैस प्लांट से मिले मानव खोपड़ियां व नरकंकाल, आई निठारी कांड याद

मुंबई : महाराष्ट्र के वर्धा जिले से निठारी कांड जैसा मामला सामने आया है। यहां के एक प्राइवेट अस्पताल से मानव कंकाल और खोपड़ियां...

शिवराज सरकार झूठ परोसने में लगी है,16 साल से दे रहे झूठे आश्वासन – पूर्व मुख्यमंत्री

कमलनाथ ने कहा कि प्रदेश में पंजीकृत बेरोजगार युवाओं का आंकड़ा 34 लाख के करीब पहुंच चुका है। अभी हाल ही में हमने प्रदेश...

खंडवा : GST टीम की छापेमार कार्रवाई, जीएसटी चोरी की आशंका

जीएसटी की जांच के लिए कमिश्नर जीएसटी इंदौर द्वारा संभागीय टीम को 2 दिन की जांच के अधिकार पावर दिए गए हैं इसके तहत...

Stay Connected

5,577FansLike
13,774,980FollowersFollow
124,000SubscribersSubscribe
- Advertisement -

Latest Articles

पुलिस महिलाओं और बच्चों से कैसे करें व्यवहार, परीक्षा आयोजित

खंडवा : पुलिस में भर्ती होने के लिए परीक्षा पास करते तो आप ने देखा होगा लेकिन पुलिस रहते हुए में अपने कर्तयव को...

नरेश टिकैत से मिलने पहुंचे केंद्रीय मंत्री संजीव बालियान

लखनऊ : उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में केंद्रीय पशुपालन मंत्री डॉक्टर संजीव बालियान ने सिसौली पहुंचकर भाकियू अध्यक्ष चौधरी नरेश टिकैत का हाल जाना।...

Goa Election 2022: ,केजरीवाल बोले- पीएम मोदी ने खुद हमें ईमानदारी का सर्टिफिकेट दिया है, गोवा में भी मुफ्त योजनाओं का किया वादा

नई दिल्लीः गोवा के लिए आम आदमी पार्टी ने बड़ा चुनावी वादा किया है। चुनाव प्रचार करने के लिए गोवा पहुंचे दिल्ली के मुख्यमंत्री...

अमेरिका: आतंकी की गिरफ्त से छुड़ाए गए सभी अमेरिकी नागरिक, 10 घंटे तक चला ऑपरेशन

टेक्सास : अमेरिका के टेक्सास में अमेरिकी नागरिकों को बंधक बनाए जाने के मामले में सुरक्षाबलों को बड़ी कामियाबी मिली है। राज्यपाल ग्रेस एबॉट...

Haryana: मंत्री विज ने दी जानकारी, बिना वैक्सीन लगवाए 15 से 18 वर्ष के बच्चों को स्कूल में नहीं मिलेगी एंट्री

हरियाणा : हरियाणा में 15 से 18 वर्ष आयु वर्ग के बच्चों के लिए बिना कोरोना रोधी टीका लगवाए स्कूलों में प्रवेश करने की...