कांग्रेस ने बजट को बताया दिशाहीन, राहुल गांधी बोले- युवा चाहते रोजगार

राहुल गांधी ने ट्वीट किया, ‘हमारे युवा रोजगार चाहते हैं। इसके बजाय उन्हें संसदीय इतिहास का सबसे लंबा बजट भाषण मिला जिसमें काम का कुछ भी नहीं है। ऐसा लगा कि प्रधानमंत्री और वित्त मंत्री दोनों को कुछ सूझ ही नहीं रहा कि आगे क्या करना है।’नई दिल्ली : कांग्रेस ने आम बजट को दिशाहीन करार देते हुए कहा है कि ऐसा लग रहा है कि पीएम और वित्त मंत्री को सूझ ही नहीं रहा कि आगे क्या करें। हालांकि, कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने इतना जरूर माना इनकम टैक्स के मोर्चे पर सरकार का कदम मिडिल क्लास को राहत देने वाला है। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि बजट भाषण भले ही अबतक का सबसे लंबा हो लेकिन इसमें कुछ नहीं था।

राहुल गांधी ने ट्वीट किया, ‘हमारे युवा रोजगार चाहते हैं। इसके बजाय उन्हें संसदीय इतिहास का सबसे लंबा बजट भाषण मिला जिसमें काम का कुछ भी नहीं है। ऐसा लगा कि प्रधानमंत्री और वित्त मंत्री दोनों को कुछ सूझ ही नहीं रहा कि आगे क्या करना है।’

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने भी कहा कि बजट में रोजगार के लिए कुछ भी नहीं किया गया। उन्होंने दावा किया कि सरकार अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने, निजी निवेश को प्रोत्साहित करने और रोजगार के अवसर पैदा करने की उम्मीद छोड़ चुकी है। चिदंबरम ने कहा, ‘सरकार यह नहीं मान रही है कि अर्थव्यवस्था संकट में है। सरकार सुधार में यकीन नहीं करती।’

दूसरी तरफ, कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने कर में कटौती की यह कहकर तारीफ की कि इससे मध्यम वर्ग को राहत मिलेगी। उन्होंने कहा, ‘बजट में शायद एकमात्र अच्छी बात जो हो सकती है वह मध्यम वर्ग के लिए कर में कटौती करना है। इससे 12.5 लाख रुपये से कम सालाना आय वालों को थोड़ी राहत मिलेगी। इसके अलावा पूरे बजट में हमें ऐसा कुछ भी नहीं सुनाई दिया जो ऊर्जा दे सके।’ थरूर ने कहा कि यह बजट निराश करने वाला है, शायद यही वजह है कि संसद में बीजेपी की तरफ से भी बजट पर ताली बजाने वाला कोई नहीं था।